Friday , September 25 2020

चिट्ठी विवाद के बाद कांग्रेस के अंदर बड़ा फेरबदल, गुलाम नबी आजाद समेत चार महासचिव हटाए गए

नई दिल्ली। कांग्रेस में चिट्ठी विवाद के बाद बड़ा पार्टी के अंदर बड़ा फेरबदल किया गया है। गुलाम नबी आजाद से महासचिव का पद छीन लिया गया है। पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी बयान के अनुसार गुलाम नबी आजाद, मोतीलाल वोरा, अंबिका सोनी और मल्लिकार्जुन खड़गे को महासचिव पद से हटा दिया गया है।

पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला का कद और बढ़ा दिया गया है अब वह कांग्रेस अध्यक्ष को सलाह देने वाली उच्च स्तरीय छह सदस्यीय विशेष समिति का हिस्सा हैं। इसके साथ ही सुरजेवाला को कांग्रेस का महासचिव भी बनाया गया है। उन्हें कर्नाटक का प्रभारी बनाया गया है। मधुसूदन मिस्त्री को केंद्रीय चुनाव समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। प्रियंका गांधी को उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया गया है। इसके अलावा केसी वेणुगोपाल को संगठन की जिम्मेदारी दी गई है।

मिली जानकारी के अनुसार कांग्रेस महासचिवों में मुकुल वासनिक को मध्य प्रदेश की जिम्मेदारी दी गई है। हरीश रावत को पंजाब की और ओमान चांडी को आंध्र प्रदेश की जिम्मेदारी दी गई है। वहीं, कांग्रेस ने तारीक अनवर को केरल और लक्षद्वीप की, जितेंद्र सिंह को असम की, अजय माकन को राजस्थान की जिम्मेदारी दी है।

बता दें कि पिछले दिनों कांग्रेस में बदलाव और सुधार को लेकर सीडब्लूसी बैठक हुई थी। इस दौरान पार्टी के अंदर खेमेबाजी तेज हो गई थी। गुलाम नबी आजाद समेत कई अन्य बड़े नेताओं ने पार्टी के अंदर बवाल को और बढ़ा दिया था।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति