Wednesday , October 21 2020

नसीम व सद्दाम ने जबरन सड़क से उठाकर नाबालिग आदिवासी लड़की का किया गैंगरेप: मुख्य आरोपित गिरफ्तार

झारखण्ड के ललमटिया के बसडीहा में मंगलवार (15 सितंबर, 2020) को एक आदिवासी नाबालिग लड़की के साथ समुदाय विशेष द्वारा रास्ते से किडनैप कर सामुहिक दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। जिसके बाद पुलिस ने छापेमारी कर मुख्य आरोपी नसीम साई को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं दूसरा आरोपित सद्दाम उर्फ सादाब साई अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है।

घटना गोड्डा जिले की है जहाँ एक नाबालिग लड़की मंगलवार की देर रात अपने घर से दोस्त के साथ मोटरसाइकिल पर सवार होकर पास के तेलगामा गाँव जा रही थी। इस दौरान ग्राम बसडीहा के पास पीड़िता के दोस्त की बाइक कीचड़ में फँस गई। उसी समय एक मोटरसाइकिल पर सवार होकर दो लड़के वहाँ पहुँचे।

रिपोर्ट के अनुसार, आरोपित नसीम व सद्दाम ने पीड़िता के दोस्त को मार पीट कर उसे भगा दिया। जिसके बाद हवस के भूखे भेड़ियों ने लड़की को अपनी बाइक पर जबरन बैठा कर पास की झाड़ी में ले जाकर बारी-बारी से उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया। पीड़िता रात भर दुष्कर्मियों का शिकार बनती रही।

नाबालिक का बलात्कार करने के बाद दोनों दरिंदो ने उसे एक घर के अंदर ले जाना चाहा। लेकिन घर का ताला बंद था और दोनों आरोपित ताला खोलने का प्रयास करने लग गए। वहीं इस मौके का फायदा उठाते ही पीड़िता वहाँ से भाग निकली। पीड़िता ने पास के एक घर से 100 नंबर डायल करके पुलिस को इसके बारे में सूचना दी। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने तत्काल मौके पर पहुँच कर आरोपित नसीम को धर दबोचा। वहीं सद्दाम वहाँ से भाग निकला।

बुधवार की देर शाम गोड्डा एसपी वाईएस रमेश ने प्रेस वार्ता आयोजित कर आदिवासी नाबालिग लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना की जानकारी मीडिया से साझा की। उन्होंने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए इस दुष्कर्मकांड में संलिप्त अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए एसडीपीओ महगामा डॉ वीरेन्द्र चौधरी के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया है।

टीम द्वारा लगातार छापेमारी कर नसीम साई को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया गया है। पूछताछ के दौरान नसीम ने अपना अपराध स्वीकार किया है। पुलिस द्वारा दूसरे आरोपित सादाब की गिरफ्तारी को लेकर लगातार छापेमारी की जा रही है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति