Thursday , October 22 2020

देश को दहलाने की बड़ी साजिश नाकाम, NIA ने अलकायदा से जुड़े 9 आतंकी किए गिरफ्तार

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद और केरल के एर्नाकुलम से आतंकवादी संगठन अलकायदा ( Al-Qaeda terrorists) के 9 आतंकियों को गिरफ्तार किया है. एनआईए की टीम ने इन आतंकियों को गिरफ्तार कर राजधानी सहित देश के अन्य शहरों में होने वाले बड़े हमले की साजिश को नाकाम किया है और आतंकियों के मंसूबों को ध्वस्त किया है. समाचार एजेंसी ANI के अनुसार सभी राजधानी दिल्ली सहित देश में कई जगहों पर हमला करने की फिराक में थे.

एनआई ने गिरफ्तार किए गए (National Investigation Agency) आतंकवादियों के पास से जिहादी साहित्य, देसी बंदूक, नुकीले हथियार, लोकल बना हुआ शरीर का कवच, विस्फोटक बनाने का सामान, डिजिटल डिवाइस और कई दस्तावेज बरामद किए हैं. आतंकी संगठन से जुड़े ये ऑपरेटिव्स मॉड्यूल सक्रियता से फंड जुटा रहे थे ताकि किसी बड़े हमले को अंजाम दे सकें.

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुरुआती जांच में पता चला है कि ये सभी सोशल मीडिया के जरिए पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन अल-कायदा से जुड़े थे और वहीं से कट्टरपंथी बने थे. NIA ने अल-कायदा के जिन 9 आतंकवादियों की जो गिरफ्तारी की है, उनमें पश्चिम बंगाल से अबू सूफियान, लेऊ यीन अहमद और केरल से मुर्शिद हसन, मोसारफ हसन शामिल हैं.एनआईए ने इन सभी आतंकियों को गिरफ्तार करने के बाद सभी का  अलूवा जिला अस्पताल (Aluva District Hospital) में कोविड-19 का टेस्ट कराया.

गौरतलब है कि पिछले महीने ही दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मुठभेड़ के दौरान धौलाकुआं से ISIS के संदिग्ध आतंकी अबू यूसुफ उर्फ मुस्तकीम को गिरफ्तार किया था. यूपी के बलरामपुर का रहने वाला यूसुफ, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में हमले की साजिश रच रहा था. संदिग्ध आतंकी के निशाने पर अयोध्या में निर्माण हो रहा राम मंदिर भी था.

वहीं दूसरी ओर एक दिन पहले सुरक्षाबलों ने जम्मू कश्मीर में पुलवामा (Pulwama) जैसा एक और आतंकी हमला करने की साजिश नाकाम कर दिया था. खुफिया सूचना पर सेना ने पुलवामा के करेवा इलाके से 52 किलो विस्फोटक और 50 डेटोनेटर बरामद किए हैं. इनके जरिए कश्मीर में एक बार फिर सुरक्षाबलों पर बड़ा हमला करने की साजिश थी.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति