Thursday , October 22 2020

अंपायर की एक गलती और किंग्स इलेवन पंजाब से छीन गई जीत, सहवाग ने कसा तंज!

रविवार को आईपीएल के एक बेहद रोमांचक मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स की टीम ने किंग्स इलेवन पंजाब को हरा दिया, निर्धारित 20-20 ओवर में मैच टाई रहा, इसके बाद मैच का फैसला सुपरओवर में हुआ, जहां दिल्ली की टीम ने बाजी मार ली, लेकिन दिल्ली की जीत को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। क्रिकेट दिग्गज तथा फैंस आरोप लगा रहे हैं कि अंपायर की एक गलती की वजह से पंजाब को हार मिली, दरअसल अंपायर ने पंजाब के एक रन को शॉर्ट करार दिया था, हालांकि स्लो मोशन रिप्ले में साफ दिख रहा है कि ये रन शॉर्ट नहीं था।

अंपायर से हुई चूक

किंग्स इलेवन के सामने जीत के लिये 157 रनों का लक्ष्य था, आखिरी 10 गेंदों में पंजाब को जीत के लिये 21 रन बनाने थे, जिस अंदाज में मयंक अग्रवाल बल्लेबाजी कर रहे थे, kingsपंजाब की जीत तय मानी जा रही थी, 19वें ओवर में गेंदबाजी के लिये कैगिसो रबाडा आये, मयंक ने उनकी दूसरी गेंद पर झन्नाटेदार चौका लगा दिया, रबाडा की अगली गेंद यॉर्कर थी, जिसे मिड ऑन की तरफ खेलकर अग्रवाल ने 2 रन पूरे किये, दूसरे छोर पर क्रिस जॉर्डन बल्लेबाजी कर रहे थे, लेकिन अंपायर नितिन मेनन ने इसे शॉर्ट रन करार दिया, उन्होने दूसरे अंपायर से बातचीत कर कहा कि जॉर्डन ने अपना पहला रन पूरा करते समय बल्ले को क्रीज के अंदर नहीं रखा, ऐसे में यहां पंजाब को सिर्फ 1 रन दिया गया, टीवी के स्लो मोशन रिप्ले में साफ-साफ देखा जा सकता है कि जॉडर्न का ये शॉर्ट रन नहीं था, उन्होने बल्ले को सही तरीके से रखा था, लिहाजा एक रन की कमी से मैच टाई हो गया।

सहवाग का गुस्सा

अंपायर की इस गलती पर दिग्गज पूर्व बल्लेबाज वीरेन्द्र सहवाग भड़क गये, उन्होने अंपायर के फैसले पर तंज कसते हुए कहा कि मैं मैन ऑफ द मैच के फैसले से खुश नहीं हूं, मैन ऑफ द मैच के असली हकदार तो अंपायर हैं, वो शॉर्ट रन नहीं था, इसी अंतर से पंजाब की टीम हार गई।

मैच का नतीजा

पहले बल्लेबाजी करते हुए दिल्ली कैपिटल्स ने 157 रन बनाये, जबाव में पंजाब की टीम भी 157 रन ही बना सकी, मैच सुपरओवर में गया, जहां कागिसो रबाडा ने सिर्फ तीन गेंदों में ही पंजाब के दो विकेट आउट कर दिये, पंजाब ने सुवर ओवर में जीत के लिये दिल्ली को सिर्फ तीन रन का लक्ष्य दिया, जिसे उसने दो गेंदों में ही हासिल कर लिया।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति