Saturday , October 24 2020

मुख्तार अंसारी के गुर्गों की तलाश में 42 जगहों पर एकसाथ छापेमारी, योगी के पुलिस ने मचाई खलबली!

लखनऊ। पंजाब जेल में बंद माफिया डॉन और बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के गुर्गों के खिलाफ मंगलवार को लखनऊ पुलिस ने ताबड़तोड़ छापेमारी की, मुख्तार के करीबियों की धरपकड़ के लिये पुलिस की 48 टीमों ने 42 ठिकानों पर एक साथ दबिश दी, इसमें हिस्ट्रीशीटर अभिषेक सिंह उर्फ बाबू, आकाश समेत 11 अपराधी गिरफ्तार किये गये, इतना ही नहीं पुलिस ने 21 लोगों को हिरासत में भी लिया है, गिरफ्तार अभिषेक सिंह उर्फ बाबू के घर से तहखाने में पिस्टल तथा बम बनाने का सामान भी मिला है, अन्य के पास से गांजा, अफीम और मोबाइल फोन मिला है।

बाबू गिरफ्तार

एडीसीपी दिनेश पुरी ने जानकारी देते हुए बताया कि मड़ियांव के हिस्ट्रीशीटर अभिषेक सिंह उर्फ बाबू को विभूतिखंड से पकड़ा गया, मड़ियांव का रहने वाला बाबू उत्तरी क्षेत्र में मुख्तार अंसारी के नाम पर लोगों को धमकाता था, बाबू के अलीगंज आवास पर दबिश के दौरान दो पिस्टल, कारतूस और 24 खाली टिफिन बरामद हुई, माना जा रहा है कि खाली टिफिन का इस्तेमाल बम बनाने में होना था, अभिषेक मुख्तार अंसारी का बेहद करीबी बताया जाता है।

डीसीपी के नेतृत्व में ऑपरेशन

पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने बताया कि 6 डीसीपी के नेतृत्व में ये ऑपरेशन चलाया गया, इसके तहत उन अपराधियों के यहां दबिश दी गई, जिनके खिलाफ कई मुकदमे हैं, और जमानत पर बाहर हैं, उन्होने कहा कि हिरासत में लिये लोगों की अगर किसी अपराध में संलिप्तता पायी जाती है, तो उनकी गिरफ्तारी की जाएगी, मुख्तार के गुर्गों के खिलाफ पुलिस पिछले दो महीने से कार्रवाई कर रही है।

फ्लैट में छापेमारी

मुख्तारी अंसारी के एक अन्य गुर्गे वाराणसी निवासी प्रदीप सिंह के गोमतीनगर विस्तार स्थित फ्लैट पर भी छापेमारी की गई, प्रदीप सिंह ले सरस्वती अपार्टमेंट के फ्लैट से पुलिस को एक दर्जन प्रतिबंधित वायरलेस सेट मिला है। दो पिस्टल, वायरलेस सेट्स के अलावा एक आरोपी आकाश के पास से ब्लड प्रीजर्व करने वाले बैग्स भी मिले है, पुलिस को शक है कि ये खून के अवैध कारोबार से जुड़ा हो सकता है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति