Wednesday , December 2 2020

मीडिया पर महाराष्ट्र सरकार और महाराष्ट्र पुलिस की बर्बरता का www.iwatchindia.com घोर निंदा व विरोध करता है |

बिहार में शुरू हुआ जोड़-तोड़ का खेल, मांझी-मुकेश साहनी को साधने में जुटी कांग्रेस

पटना। बिहार में चुनाव परिणाम आने के बाद अब सत्ता के लिए जोड़-तोड़ की आजमाइश शुरू हो गई है और महागठबंधन भी राज्य में सत्ता पाने के लिए रणनीति बनाने में जुट गया है. सूत्रों के अनुसार, महागठबंधन की तरफ से कांग्रेस जीतन राम मांझी और मुकेश साहनी को साधने में लग गई है. इसके लिए कांग्रेस ने मांझी को सीएम या फिर स्पीकर और मुकेश साहनी को डिप्टी सीएम के साथ मंत्री पद देने पेशकश की है.

जानकारी के अनुसार, कांग्रेस दोनों नेताओं के संपर्क में है. कांग्रेस मांझी के अलावा उनके बेटे को भी मंत्री पद देने की पेशकश कर रही है. सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस इस बार आसानी से सत्ता छोड़ने के पक्ष में नहीं है और इसलिए तमाम तरह की कवायद चल रही है. इसके लिए पार्टी ने दो वरिष्ठ नेताओं को जिम्मेदारी दी है.

कांग्रेस की तरफ से अविनाश पांडेय और छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल को पटना भेजा गया है. दोनों नेता शुक्रवार को 2 बजे अपने विधायकों के साथ बैठक करेंगे और आगे की रणनीति तय करेंगे. हालांकि, कांग्रेस का ऑफस महागठबंधन के सबसे बड़े दल आरजेडी को रास नहीं आ रहा है.

आरजेडी कांग्रेस के इस कदम से सहमत नहीं है. वहीं, हिंदुस्तान आवाम मोर्चा ने कहा, ‘हम यह स्पष्ट करना चाहते हैं कि हम राजग के साथ बने रहेंगे. हमारे नेता जीतन राम मांझी ने स्पष्ट रूप से कहा है कि हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा ने सीएम नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव लड़ा, हम उनके साथ थे और उनके साथ रहेंगे.’

गौरतलब है कि कांग्रेस का प्रदर्शन विधानसभा चुनाव में बहुत खराब रहा. पार्टी ने 70 विधानसभा और लोकसभा सीट पर अपने उम्मीदवार उतारे थे, लेकिन उसे सिर्फ 17 विधानसभा सीट पर ही जीत हासिल हुई. वहीं, महागठबंधन में अब कांग्रेस के प्रदर्शन को लेकर सवाल भी उठ रहे हैं. आरजेडी और वाम दल का आरोप है कि कांग्रेस की वजह से वह सरकार बनाने से चूक गए हैं. इधर, कांग्रेस नेता तारिख अनवर ट्वीट कर कह चुके हैं कि कांग्रेस की वजह से बिहार में सरकार नहीं बन पाई है.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति