Saturday , January 16 2021

उत्तर प्रदेश के युवाओं की बल्ले-बल्ले! नौकरियां देने में योगी सरकार ने बनाया नया रिकॉर्ड

उत्तर प्रदेश के युवाओं की बल्ले-बल्ले! नौकरियां देने में योगी सरकार ने बनाया नया रिकॉर्डलखनऊ। योगी सरकार ने पिछले 4 सालों में उत्तर प्रदेश को श्रेष्ठ राज्य बनाने के लिए कड़ी मेहनत की है. इसी क्रम में उत्तर प्रदेश ने सबसे ज्यादा नौकरी और रोजगार देने का नया रिकॉर्ड बनाया है. सरकार ने पिछले 4 साल में राज्य में लगभग 4 लाख लोगों को नौकरी दी है, जो बाकी राज्यों से काफी ज्यादा है.

3209 नलकूप चालकों को मिलेगा ज्वाइनिंग लेटर
सीएम योगी बुधवार को 3209 ट्यूबवेल (Tubewell) चालकों को नियुक्ति पत्र दे कर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कैंडिडेट्स को संबोधित करेंगे. संवाद के दौरान सीएम योगी खुद ही अभ्यर्थियों से बात कर भर्ती प्रक्रिया की शुचिता और पारदर्शिता को परखते हैं. नलकूप चालकों की नियुक्ति से उन किसानों को भी फायदा मिलेगा जिन्हें सिंचाई के लिए दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. सीएम योगी का आदेश है कि हर रिक्रूटमेंट प्रोसेस में पारदर्शिता हो, और नौकरी के लिए योग्य कैंडिडेट्स का ही चयन होना चाहिए.

कोर्ट ने भी की सरकार की तारीफ
कोर्ट ने भी उत्तर प्रदेश की भर्ती प्रक्रिया की सराहना की है. अदालत ने 69000 टीचर रिक्रूटमेंट में भर्ती प्रक्रिया पूरी करने का आदेश दिया था, जिसके बाद हाल ही में सभी नवनियुक्त शिक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरित किए गए. बता दें, कोरोना काल में भी प्रदेश सरकार की भर्ती प्रक्रिया नहीं थमी. इसलिए आज उत्तर प्रदेश सबसे ज्यादा नौकरियां देने वाला राज्य बन गया है.

इन पदों पर मिलीं नौकरियां
पिछले 4 सालों में प्रदेश में इन पदों पर युवाओं को नौकरी मिली है.

पुलिस विभाग-                     1,37,253 नौकरियां
बेसिक शिक्षा-                     85,983  नौकरियां
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन-           28,622 नौकिरियां
यूपी लोकसेवा आयोग-           26,103 नौकरियां
अधीनस्थ सेवा-                     16,708 नौकरियां
माध्यमिक शिक्षा-                  14,000 नौकरियां
स्वास्थ्य व कल्याण विभाग-         8556 नौकरियां
यूपी पावर कॉर्पोरेशन-              6446 नौकरियां
अन्य-                                    8128 नौकरियां

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति