Friday , January 22 2021

अजीमाबाद की सड़क पर खून से लथपथ मिली अंशु की लाश, अंग-अंग काट डाले गए थे: अरमान मलिक और उसकी बहन गिरफ्तार

पटना। बिहार के पटना सिटी स्थित अजीमाबाद कॉलोनी की सड़क पर खून से लथपथ एक लाश मिली। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार लाश के कई अंगों को काटकर सड़क किनारे फेंक दिया गया था। मृतक की पहचान अंशु कुमार उर्फ़ लकी सिंह के तौर पर हुई है। पुलिस ने मामले में अंशु की गर्लफ्रेंड कही जाने वाली एक लड़की और उसके भाई अरमान मलिक को गिरफ्तार किया है।

हत्या की इस घटना को बहादुरपुर थाना क्षेत्र स्थित न्यू अजीमाबाद कॉलोनी में रविवार (दिसंबर 13, 2020) को अंजाम दिया गया। हत्या की वजह प्रेम प्रसंग बताई जा रही। लाश मिलने के बाद पीड़ित परिजनों ने न्याय की माँग लेकर प्रदर्शन किया।

अंशु के गले को किसी धारदार हथियार से काटा गया था। एक ऑनलाइन प्राइवेट कम्पनी में बतौर डिलीवरी बॉय काम करने वाला अंशु संदलपुर का रहने वाला था। साथ ही वो एक म्यूजिकल ग्रुप के साथ भी जुड़ा हुआ था। पीड़ित परिजनों ने बताया कि उसकी गर्लफ्रेंड भी उसी क्षेत्र में रहती है, जिसका फोन कॉल आने के बाद वो शनिवार की देर रात 1 बजे घर से निकला था।

वो दवा लेने की बात कह कर बाइक से घर से निकला था। परिजनों ने बताया कि वो अक्सर अपने मित्र जीतू के यहाँ रुक जाया करता था, इसीलिए मोबाइल स्विच ऑफ होने के बाद उन्हें लगा कि वो सुबह आ जाएगा। होम डिलीवरी के दौरान ही उसकी लड़की से पहचान हुई थी। लेकिन, लड़की का भाई अरमान मलिक उसे मैसेज या कॉल न करने और ‘देख लेने’ की धमकी दिया करता था।

जब अगले दिन सुबह तक भी वो नहीं लौटा तो परिजनों को किसी साजिश की आशंका हुई और वो उसकी खोज में निकल पड़े। सुबह के 7 बजे कुछ स्थानीय मछली विक्रेताओं ने सूचना दी कि अंशु की लाश उसी इलाके में सड़क के किनारे पड़ी हुई है। अंशु के भाई रितेश कुमार और चाचा कृष्णेदव साहनी जब मौके पर पहुँचे तो उन्होंने पाया कि अंशु की लाश पूरी तरह खून से लथपथ हुई पड़ी हुई थी। स्थानीय लोग इस घटना से आक्रोशित हो गए।

आक्रोशित लोगों ने मुख्य अभियुक्त के घर पर पत्थरबाजी भी की। सड़क को जाम कर दिया गया। लोगों ने स्थानीय पुलिस थाना जाकर न्याय की माँग की और घेराव किया। मृतक के भाई रितेश का आरोप है कि लड़की के भाई अरमान मलिक ने ही इस घटना को अंजाम दिया है। अरमान मलिक ने अंशु को हाल ही में गंभीर परिणाम भुगतने को लेकर धमकाया था, ऐसा परिजनों का आरोप है। उन्होंने कहा कि लड़की भी इस घटना में शामिल हो सकती है।

आक्रोशित लोग अभियुक्त की गिरफ़्तारी को लेकर अड़े थे। इसके बाद पुलिस हरकत में आई और अभियुक्त के घर छापेमारी कर के लड़की और उसके भाई को हिरासत में लिया गया। उन्हें थाने लाकर पूछताछ की गई। चूँकि प्रदर्शनकारियों की संख्या पुलिसकर्मियों से ज्यादा थी, इसीलिए प्रशासन को उन्हें काबू करने में खासी मशक्कत करनी पड़ी। सिटी डीएसपी (ईस्ट) जितेन्द्र कुमार और डीएसपी (पटना सिटी) अमित शरण ने घटनास्थल पर जाकर लोगों को समझाया।

सिटी एसपी ने बताया कि प्रारंभिक जाँच में प्रेम प्रसंग को ही हत्या की वजह बताया गया है। अंशु के फोन के कॉल रिकार्ड्स खँगाले जा रहे हैं, ताकि इस मामले में और खुलासा हो सके। शव को कब्जे में लेकर पुलिस पोस्टर्माटम के लिए एनएमसी भेज दिया है। परिजनों का कहना है कि लड़की का भाई बार-बार हत्या की धमकी देता था और उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए। प्रेमिका और उसके भाई को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया।

मृतक की माँ आरती देवी के बयान पर मामला दर्ज किया गया है। इस हत्याकांड में दो अज्ञात भी शामिल हैं और साथ ही अरमान के पिता की भी तलाश है, जो फरार चल रहा है। आरोपित को ले जाते समय मोहल्ले के लोगों ने पुलिस पर पथराव किया। फ़िलहाल कई थानों की पुलिस को वहाँ शांति-व्यवस्था हेतु लगाया गया है। इसी तरह दिल्ली में राहुल राजपूत नामक युवक की हत्या कर दी गई थी।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति