Friday , June 18 2021

बदायूं में महिला से निर्भया जैसी हैवानियत, सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या; पीएम रिपोर्ट से मचा हड़कंप

बदायूं/लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बदायूं जिले के उघैती थाना क्षेत्र स्थित गांव के धर्मस्थल में पूजा करने गई महिला के साथ हैवानियत की इंतेहा की गई। सामूहिक दुष्कर्म के बाद ठीक उसी तरह निजी अंगों को क्षतिग्रस्त कर दिया, जैसा कि दिल्ली की निर्भया संग हुआ था। मंगलवार देर शाम पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पुष्टि के बाद अफसरों में खलबली मच गई। आशंका है कि निजी अंग में रॉड डाली गई थी। आरोपित धर्मस्थल के महंत समेत तीन लोगों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। घटना के बाद से सभी फरार हैैं। उनकी तलाश के लिए कई टीमें गठित की गई हैैं।

महिला रविवार देर शाम पास के ही गांव में धर्मस्थल पर पूजा करने गई थी। उसी रात 11 बजे धर्म स्थल की देखरेख करने वाला अपने दो साथियों के साथ बोलेरो से महिला का खून से लथपथ शव लेकर घर पहुंचा। जब तक परिजन बाहर आते, वे शव घर के बाहर फेंककर फरार हो गए। हालांकि, इस दौरान महिला के बच्चों ने तीनों को पहचान लिया, जिसके बाद रात में ही पुलिस को खबर कर दी। ग्रामीणों ने आरोपित सत्यनारायण को फोन किया तो बहाने बनाने लगा। शिकायत के बावजूद पुलिस अगले दिन सोमवार को देर शाम गांव पहुंची। मंगलवार को पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई तो अफसरों के होश उड़ गए।

एसपी देहात सिद्धार्थ वर्मा ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। सामूहिक दुष्कर्म और हत्या की धाराओं में धर्मस्थल के महंत समेत तीनों आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपित फरार हैं, उनकी तलाश में दबिशें दी जा रही हैं, उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर जेल भेजेंगे।

सोती रही पुलिस, 17 घंटे तक पड़ी रही महिला की लाश : दुष्कर्म की घटनाओं के लिए देश-दुनिया में शर्मसार हो चुके बदायूं की पुलिस ने इस घटना से भी कोई सबक नहीं लिया। हैवानियत के 17 घंटे बाद भी महिला की लाश घर के बाहर पड़ी रही और शिकायत के बावजूद पुलिस सोती रही। मौके पर जाने की जहमत नहीं उठाई। ग्रामीणों के हंगामे के बाद पुलिस गांव पहुंची। पुलिस की संवेदनहीनता का अंदाजा इसी से लगा सकते हैैं कि परिवार वाले गुहार लगाते रहे और पुलिस अगले दिन पर मामला टालती रही।

घटना को नजर अंदाज करती रही पुलिस : परिजनों के मुताबिक, रविवार रात करीब 11 बजे महिला का शव उसके घर के सामने फेंककर भागे थे। इसके तुरंत बाद महिला के बच्चों ने फोन पर सूचना देकर आसपास के रिश्तेदारों को बुलवा लिया। दो घंटे बाद रात एक बजे थाना पुलिस को खबर की। रात भर पीड़ित पक्ष फोन करता रहा और पुलिस घटना को नजर अंदाज करती रही। सोमवार सुबह मृतका के रिश्तेदार खुद थाने पहुंचे तो उनसे कह दिया गया कि पुलिस पहुंच रही है।

छावनी में तब्दील हुआ अंत्येष्टि स्थल : सामूहिक दुष्कर्म के बाद महिला की हत्या के मामले में ग्रामीण पुलिस की कार्यशैली को लेकर काफी आक्रोशित थे। इसकी जानकारी पुलिस अफसरों को मिली तो उन्होंने अंत्येष्टि के दौरान कोई विवाद न हो, इसलिए अंत्येष्टि स्थल पर फोर्स तैनात कर दी। फिलहाल रात में ही शव की अंत्येष्टि करने की तैयारी चल रही थी।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति