Thursday , June 24 2021

लाल किले के ड्रामे के पीछे PMO के करीबी BJP नेता का भी हाथ, सुब्रमण्यम स्वामी के ट्वीट से नई चर्चा शुरु!

नई दिल्ली। कृषि कानून पर किसान संगठनों का विरोध प्रदर्शन 65 दिन बाद गणतंत्र दिवस के दिन उग्र हो गया, पहली बार ट्रैक्टर रैली के दौरान पुलिस और उपद्रवी आपस में भिड़ते नजर आये, लालकिले से लेकर आईटीओ तक सभी तरफ टकराव की स्थिति देखने को मिली, हालांकि पुलिस ने कहीं भी कड़ी कार्रवाई नहीं की, इस बीच बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने इस घटना पर ट्वीट किया है, उन्होने सोशल मीडिया में चल रही खबरों के आधार पर शक जताते हुए कहा कि लालकिले पर जो बवाल हुआ, उसमें पीएमओ के करीबी बीजेपी नेता का हाथ रहा है।

क्या कहा स्वामी ने

बीजेपी राज्यसभा सांसद ने कहा कि एक गूंज चल रही है, शायद झूठी हो सकती है, या दुश्मनों की झूठी आईडी से चलाई गई है कि पीएमओ के करीबी बीजेपी के एक सदस्य ने लाल किले में चल रहे ड्रामे में भड़काउ व्यक्ति के तौर पर काम किया, चेक कर के जानकारी दें।

अगला ट्वीट

इतना ही नहीं सुब्रमण्यम स्वामी ने अपने अगले ट्वीट में किसान आंदोलन में शामिल रहे दीप सिद्धू से जुड़े एक ट्वीट को रि-ट्वीट भी किया, जिसमें कहा गया था कि लाल किले की हिंसा में आरोपी दीप सिद्धू बीजेपी नेता सनी देओल का कैपेंन मैनेजर रह चुका है।

मोदी-शाह पर निशाना

बीजेपी सांसद ने एक और ट्वीट में कहा कि इस घटना से पीएम मोदी और अमित शाह की छवि को नुकसान पहुंचा है, साथ ही प्रदर्शन कर रहे किसान नेताओं ने भी अपना सम्मान खो दिया है, इसके अलावा उन्होने पंजाब की कांग्रेस सरकार पर भी जमकर निशाना साधा, स्वामी का बयान ऐसे समय में आया है, जब देश के लोगों में प्रदर्शनकारी किसानों के खिलाफ भारी आक्रोश है, उन्होने इस घटना को लेकर पीएम मोदी को भी चिट्ठी लिखी है।

दीप सिद्धू के तार बीजेपी से जुड़े होने की बात
इससे पहले सोशल मीडिया पर दीप सिद्धू के तार बीजेपी से जुड़े होने की खबरें ट्रेंड करती रही, भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि दीप सिद्धू सिख नहीं हैं, बल्कि वो बीजेपी के कार्यकर्ता हैं, वहीं बीकेयू के नेता गुरनाम सिंह चंढूनी ने कहा कि किसान संगठनों का लाल किले पर जाने का कोई कार्यक्रम नहीं था, दीप सिद्धू ने किसानों को भड़काया, और आउटर रिंग रोड से लाल किला तक ले गये।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति