Sunday , February 28 2021

Uttarakhand Glacier Burst LIVE Updates: CM बोले- 203 अभी भी लापता, ISRO के साइंटिस्ट से पता लगवाएंगे ग्लेशियर टूटने का कारण

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा है कि तपोवन प्रोजेक्ट का काम चल रहा था, इसमें बड़ी संख्या में श्रमिक काम कर रहे थे। अब तक 11 शव बरामद हुए हैं और 203 लोग लापता हैं। मैंने अपने मुख्य सचिव को बोला है कि यहां मौजूद ISRO के वैज्ञानिकों की मदद से ग्लेशियर टूटने के कारणों को ढूंढा जाए ताकि भविष्य में हम एहतियात बरत सके।

जानकारी के मुताबिक, गढ़वाल क्षेत्र में ग्लेशियर टूटने के बाद आई तबाही के दौरान पानी का गुबार इतना भीषण था कि तपोवन का बांध पूरी तरह साफ हो गया। इस डैम की लोकेशन से जो शुरुआती तस्वीर सामने आई है, उसमें कुछ ऐसा ही नजर आ रहा है।

तपोवन के पास बनी झील जैसी स्थिति बन गई है, जबकि निचले इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। वहीं, चमोली में रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। सड़क संपर्क टूट जाने की वजह से कुछ जगहों पर पीड़ितों तक चॉपर से खाना पहुंचाया जा रहा है।

ताजा जानकारी के मुताबिक, जोशीमठ ग्लेशियर हादसे में अब तक 15 लोग रेस्क्यू करा लिए गए हैं, जबकि आज पूरे दिन इसके चलने की संभावना है। कितना नुकसान हुआ है? इसका आकलन किया जा रहा है। वहीं, 14 लाशें बरामद की गई हैं और 170 लोग फिलहाल लापता हैं।

8 फ़रवरी 2021, 11:00 बजे

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बताया कि तपोवन प्रोजेक्ट का काम चल रहा था, इसमें बड़ी संख्या में श्रमिक काम कर रहे थे. अभी भी 203 लोग लापता हैं. उन्होंने कहा, ‘मैंने अपने मुख्य सचिव को बोला है कि यहां मौजूद ISRO के वैज्ञानिकों की मदद से ग्लेशियर टूटने के कारणों को ढूंढा जाए ताकि भविष्य में हम एहतियात बरत सके.’

 

8 फ़रवरी 2021, 10:33 बजे

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बताया कि हमारे बहादुर जवान रातभर के बचाव कार्य के पश्चात सुरंग के मुहाने तक पहुंच गए हैं. बचाव कार्य जोरो से चल रहा है और हम और अधिक लोगों की जान बचाने की उम्मीद कर रहे हैं.

 

8 फ़रवरी 2021, 10:29 बजे

 

8 फ़रवरी 2021, 10:27 बजे

 

8 फ़रवरी 2021, 10:25 बजे

ITBP की डीआईजी अपर्णा कुमार ने बताया कि बड़ी टनल को 70-80 मीटर खोला गया है, जेसीबी से मलबा निकाल रहे हैं. यहां कल से 30-40 कर्मी फंसे हुए हैं.आईटीबीपी, उत्तराखंड पुलिस, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ और सेना यहां संयुक्त ऑपरेशन कर रही है. करीब 153 लोग लापता हैं.

ITBP DIG Aparna Kumar

 

8 फ़रवरी 2021, 09:54 बजे

कोटेश्वर रुद्रप्रयाग में एक और शव बरामद किया गया है, जिसके बाद हादसे में मरने वालों की संख्या 15 हो गई है.

 

8 फ़रवरी 2021, 09:43 बजे

उत्तराखंड के चमोली में जोशीमठ के पास ग्लेशियर टूटने के चलते आई भीषण बाढ़ में जानमाल के नुकसान से आहत भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत ने राहत और बचाव के लिए एक मैच की फीस देने की घोषणा की है. वो भारत और इंग्लैंड के बीच चेन्नई में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम के सदस्य हैं. पंत ने लोगों से अपील की कि वे भी मदद करें. पंत ने एक ट्वीट में कहा, ‘उत्तराखंड में हुए हादसे से बहुत दुख हुआ. राहत, बचाव के लिए अपनी मैच फीस देना चाहूंगा और अधिक लोगों से मदद करने की अपील करूंगा.

 

8 फ़रवरी 2021, 09:07 बजे

आईटीबीपी के प्रवक्ता विवेक कुमार पांडे ने बताया, ‘हमने दूसरी टनल के लिए सर्च ऑपरेशन तेज कर दिया है, वहां करीब 30 लोगों के फंसे होने की सूचना है. आईटीबीपी के 300 जवान टनल को क्लियर करने में लगे हैं, जिससे लोगों को निकाला जा सके. स्थानीय प्रशासन के मुताबिक 170 लोग इस आपदा में लापता हैं.

 

8 फ़रवरी 2021, 09:06 बजे

चमोली पुलिस ने ट्वीट कर बताया कि हादसे में अब तक 14 लोगों की मौत हो चुकी है. पुलिस ने कहा, ‘टनल में फंसे लोगों के लिए राहत और बचाव कार्य जारी है. जेसीबी की मदद से टनल के अंदर पहुंच कर रास्ता खोलने का प्रयास किया जा रहा है. अब तक कुल 15 व्यक्तियों को रेस्क्यू किया गया है और 14 शव अलग-अलग स्थानों से बरामद किए गए हैं.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति