Saturday , July 24 2021

मुख्यमंत्री ने किया पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे परियोजना के निर्माण कार्यों का निरीक्षण

हवाई सर्वेक्षण तथा स्थलीय निरीक्षण कर
परियोजना की अद्यतन प्रगति को मौके पर परखा
 
निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने परियोजना के निर्माण की स्थिति की विस्तृत
समीक्षा की, निरीक्षण स्थल पर जनप्रतिनिधियों तथा जनता से किया संवाद
 
मुख्यमंत्री ने जनपद सुल्तानपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे
पर निर्मित करायी जा रही एयर स्ट्रिप का स्थलीय निरीक्षण किया
 
प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में उ0प्र0 के सर्वांगीण विकास की रूपरेखा
लगभग 04 वर्ष पूर्व प्रारम्भ की गई, उ0प्र0 सरकार द्वारा प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन
में निर्मित किया जा रहा यह एक्सप्रेस-वे उसी श्रृंखला का हिस्सा: मुख्यमंत्री
 
यह एक्सप्रेस-वे पूर्वांचल क्षेत्र में विकास की अनन्त
सम्भावनाओं को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से बनाया जा रहा
 
03 साल में पूर्ण किए जाने के लक्ष्य के साथ वर्ष 2018 में प्रारम्भ
की गई यह परियोजना, वैश्विक महामारी कोविड-19 के बावजूद
03 साल से पहले ही जनता को समर्पित की जाएगी
 
विपरीत परिस्थितियों में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्बाध गति से निर्माण एक मिसाल
 
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे परियोजना देश में गुणवत्ता व समयबद्धता का एक उदाहरण बनेगी
 
प्रधानमंत्री जी ने जनपद आजमगढ़ में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे परियोजना का शिलान्यास किया था, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे विकास के साथ अवसर को जोड़ने का एक प्रयास
 
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के पूरा हो जाने पर हमारे युवा अपनी
प्रतिभा और ऊर्जा का उपयोग उ0प्र0 के विकास के लिए कर पाएंगे
 
परियोजना के अन्तर्गत औद्योगिक क्लस्टर्स भी विकसित किए जाएंगे
 
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे बिहार और उ0प्र0 को एक महत्वपूर्ण कड़ी के रूप में जोड़ेगा
 
यह एक्सप्रेस-वे सम्पूर्ण पूर्वांचल क्षेत्र के विकास की रीढ़ सिद्ध होगा
 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने मार्च, 2021 तक पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के सभी कार्य पूर्ण करते हुए अप्रैल, 2021 में यातायात प्रारम्भ करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि निरन्तर मॉनिटरिंग करते हुए मेन कैरिज-वे के साथ ही सर्विस लेन का कार्य भी पूर्ण किया जाए। इसके लिए आवश्यकतानुसार मैनपावर बढ़ाकर कार्यों को पूरी गुणवत्ता के साथ समय से कराया जाए।
मुख्यमंत्री जी आज विभिन्न जनपदों में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे परियोजना के सभी पैकेजों के अन्तर्गत निर्माण कार्यों का निरीक्षण कर रहे थे। उन्होंने हवाई सर्वेक्षण तथा स्थलीय निरीक्षण कर परियोजना की अद्यतन प्रगति को मौके पर परखा। धरवांकला, जनपद गाजीपुर से आज सुबह स्थलीय निरीक्षण प्रारम्भ करते हुए मुख्यमंत्री जी ने जनपद आजमगढ़, सुल्तानपुर, अयोध्या होते हुए लखनऊ पहुंचकर निरीक्षण कार्य समाप्त किया। प्रत्येक जनपद में निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री जी ने परियोजना के निर्माण की स्थिति की विस्तृत समीक्षा की तथा अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने निरीक्षण स्थल पर जनप्रतिनिधियों तथा जनता से संवाद भी किया।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के पूरा होने पर दुनिया देखेगी कि 03 साल में पूर्ण किए जाने के लक्ष्य के साथ वर्ष 2018 में प्रारम्भ की गई यह परियोजना, वैश्विक महामारी कोविड-19 के बावजूद 03 साल से पहले ही जनता को समर्पित की जाएगी। ऐसी विपरीत परिस्थितियों में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्बाध गति से निर्माण एक मिसाल है। उन्होंने कहा कि विकास का यह मॉडल देश-दुनिया के लिए आकर्षण का केन्द्र बनते हुए पूर्वी उत्तर प्रदेश के नौजवानों के लिए नौकरी और रोजगार की व्यापक सम्भावनाएं लाएगा। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे परियोजना देश में गुणवत्ता व समयबद्धता का एक उदाहरण बनेगी।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में उत्तर प्रदेश के सर्वांगीण विकास की रूपरेखा आज से लगभग 04 वर्ष पूर्व प्रारम्भ की गई थी। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में पूर्वांचल की जनता के लिए निर्मित किया जा रहा यह एक्सप्रेस-वे उसी श्रृंखला का हिस्सा है। यह एक्सप्रेस-वे पूर्वांचल क्षेत्र में विकास की अनन्त सम्भावनाओं को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से बनाया जा रहा है। इसलिए कार्यदायी संस्था, कॉन्ट्रैक्टर तथा स्थानीय जनता इसके समयबद्ध निर्माण के लिए कोई कोर कसर न छोड़े। 06 लेन का यह एक्सप्रेस-वे पूर्वांचल के सर्वांगीण विकास की रूपरेखा तैयार करने वाला एक मार्ग होगा।
मुख्यमंत्री जी ने विश्वास व्यक्त किया कि विकास की इस प्रक्रिया में सकारात्मक भाव के साथ जुड़कर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्य को समयबद्ध ढंग से आगे बढ़ाया जाएगा। प्रधानमंत्री जी प्रत्येक चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए कृतसंकल्पित हैं। इस संकल्प को साकार करने के लिए राज्य सरकार द्वारा विकास के माध्यम से किए जा रहे प्रयासों में उन्होंने सभी के सहयोग की अपेक्षा की।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के बन जाने पर व्यापक स्तर पर रोजगार एवं नौकरी की सम्भावनाएं उपलब्ध होंगी। इससे हमारे युवाओं को रोजगार व नौकरी के लिए अन्य राज्यों या दूसरे देशों की ओर नहीं जाना पड़ेगा, बल्कि अन्य जगहों के लोगों को भी नौकरी और रोजगार यहीं प्राप्त होगा। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के पूरा हो जाने पर हमारे युवा अपनी प्रतिभा और ऊर्जा का उपयोग उत्तर प्रदेश के विकास के लिए कर पाएंगे। इस परियोजना के अन्तर्गत औद्योगिक क्लस्टर्स भी विकसित किए जाएंगे।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना काल में गतिविधियां अस्त-व्यस्त हो गई थीं, लेकिन अब कोरोना पर नियंत्रण किया जा चुका है। इसके बावजूद अभी भी पूरी सावधानी बरतना आवश्यक है। 02 स्वदेशी वैक्सीन विकसित करते हुए लोगों को कोरोना से सुरक्षित करने वाला भारत दुनिया का एक मात्र देश है। इस कार्य के लिए प्रदेश की जनता की ओर से प्रधानमंत्री जी का हृदय से अभिनन्दन करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में भारत ने वैक्सीन का सफलतापूर्वक निर्माण करते हुए इसे दुनिया के सामने प्रस्तुत किया। विकास का यही मॉडल हमारे जीवन में और अधिक खुशहाली लाने के लिए आवश्यक है। इसी दृष्टि से वे आज सुबह से एक्सप्रेस-वे का निरीक्षण करने के लिए निकले हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ का प्रमुख राज्य है। नए भारत के नए उत्तर प्रदेश में माफियाओं के लिए कोई जगह नहीं है। इसी प्रकार विकास में भी कोई कोताही नहीं है। इसलिए प्रदेश सरकार पूरी मजबूती के साथ विकास कार्यों को आगे बढ़ा रही है। राज्य सरकार प्रदेश के युवाओं के उज्ज्वल भविष्य के साथ-साथ गांव, गरीब, किसान, महिलाओं सहित प्रत्येक तबके के हितों के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल के विकास में बाधक माफिया संस्कृति को समाप्त करने के लिए राज्य सरकार दृढ़तापूर्वक कार्य कर रही है।
मोजरापुर, जनपद आजमगढ़ में परियोजना का निरीक्षण करने के पश्चात अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आज से ढाई वर्ष पहले प्रधानमंत्री जी ने जनपद आजमगढ़ में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे परियोजना का शिलान्यास किया था। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे विकास के साथ अवसर को जोड़ने का एक प्रयास है। इस परियोजना से आजमगढ़ की विकास की अपेक्षाओं पर पंख लगेंगे।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आजमगढ़ में उच्च शिक्षा की बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा यहां राज्य विश्वविद्यालय स्थापित किया जा रहा है। केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा आजमगढ़ को ध्यान में रखकर अनेक बड़ी मार्ग निर्माण परियोजनाएं संचालित की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि विकास ही वास्तव में हम सभी के जीवन में परिवर्तन लाता है। आज से 03-04 वर्ष पूर्व आजमगढ़ के नाम का सकारात्मक प्रभाव नहीं होता था, लेकिन अब आजमगढ़ विकास की एक नई आशा की किरण के साथ आगे बढ़ रहा है। आशा की किरण के रूप में एक्सप्रेस-वे यहां के औद्योगिक विकास को नई उंचाइयों तक पहुंचाएगा।़
आजमगढ़ भ्रमण के दौरान मुख्यमंत्री जी ने परियोजना के पैकेज 07 के तहत तमसा नदी पर निर्माणाधीन सेतु की प्रगति का मौके पर अवलोकन किया तथा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे परियोजना की भी समीक्षा की।
मुख्यमंत्री जी ने जनपद सुल्तानपुर में ग्राम कलवारी बांध तथा अरवलकीरी करवत में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्याें की अद्यतन प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने अरवलकीरी करवत में परियोजना के तहत निर्मित करायी जा रही एयर स्ट्रिप का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि एयर स्ट्रिप के बन जाने पर इस स्थान पर बड़े से बड़े विमान को उतारा जा सकेगा। इमरजेंसी में आवश्यकता पड़ने पर यहां विमान उतारकर लोगों को सुविधा प्रदान की जा सकेगी। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के अन्तर्गत जनपद सुल्तानपुर में एयर स्ट्रिप निर्माण के लिए जनपदवासियों को इस पर गौरव की अनुभूति होनी चाहिए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि इस एक्सप्रेस-वे को लेकर पूर्वांचल के 09 जनपदों के लोगों में खासा उत्साह है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे बिहार और उत्तर प्रदेश को एक महत्वपूर्ण कड़ी के रूप में जोड़ने जा रहा है। यह एक्सप्रेस-वे सम्पूर्ण पूर्वांचल क्षेत्र के विकास की रीढ़ सिद्ध होगा। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के साथ-साथ बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे, गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे तथा डिफेंस कॉरिडोर परियोजनाओं के साकार होते ही पूरे प्रदेश का परिदृश्य बदल जाएगा।
ईदलपुर, जनपद अयोध्या में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्यों का मौके पर जायजा लेते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि उनका सौभाग्य है कि वे रविवार और आज सोमवार को अयोध्या में हैं। प्रधानमंत्री जी की मंशा के अनुरूप अयोध्या को एक वर्ल्ड क्लास सिटी के रूप में विकसित करने के लिए विकास कार्यक्रमों को आगे बढ़ाया जा रहा है। पिछले एक वर्ष से जब पूरी दुनिया कोरोना महामारी से त्रस्त थी, उसके बावजूद कार्यों को तेजी से आगे बढ़ाते हुए यह एक्सप्रेस-वे समय-सीमा से काफी पहले बन रहा है। यह परियोजना अपने अन्तिम चरण में है और आगामी दो-ढाई महीने में यह एक्सप्रेस-वे बनकर तैयार हो जाएगा। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे व्यापक निवेश की सम्भावनाओं को लेकर आया है और निवेश का अर्थ है रोजगार एवं नौकरी।
जनपद लखनऊ में चांदसराय के निकट पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे परियोजना का स्थलीय निरीक्षण करते हुए मुख्यमंत्री जी ने अधिकारियों को कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस परियोजना को 03 वर्ष के अन्दर पूरा करने का लक्ष्य रखा गया था। हम इसे लक्ष्य से पहले पूरा करेंगे। परियोजनाओं को समय से पहले पूरा करने पर जहां धन की बचत होती है, वहीं जनता को समय पर इनका लाभ मिलता है। पूर्व में योजनाएं काफी समय तक लम्बित रहती थीं, जिससे उनकी निर्माण लागत बढ़ जाती थी और लोगों को समय से उनका लाभ नहीं मिल पाता था। वर्तमान प्रदेश सरकार ने दशकों से लम्बित बाणसागर सिंचाई परियोजना को शीघ्रता से पूरा कराकर चालू कराया है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे सड़क प्रोजेक्ट नहीं, बल्कि खुशहाली का प्रोजेक्ट है।
मुख्यमंत्री जी के विभिन्न जनपदों में निरीक्षण कार्यक्रम के दौरान राज्य सरकार के मंत्रिगण सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्री अवनीश कुमार अवस्थी तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति