Sunday , February 28 2021

‘राम-राम तो सभी करते हैं, आज इस बच्चे को मारा है, राम के नाम पर मारा है…’: रिंकू शर्मा के पड़ोस में रहने वाली वृद्धा की सुनिए

नई दिल्‍ली। दिल्ली के मंगोलपुरी में बजरंग दल कार्यकर्ता रिंकू शर्मा की हत्या के बाद से इलाके में खौफ का माहौल है। सोशल मीडिया में पड़ोस में रहने वाली एक वृद्ध महिला का वीडियो वायरल हुआ है। इसमें वह घटना की रात (10 फरवरी 2021) को याद करते और रोते हुए अपने दर्द को बयाँ कर रहीं हैं।

सोशल मीडिया पर शेयर किए गए एक वीडियो में रिंकू के परिवार की तरह वर्षों से पड़ोस में रहने वाली माया देवी रोते हुए कहती है, “बच्चे (रिंकू शर्मा) को हमारे सामने निर्दयता से मार दिया, लेकिन हम उसे बचाने के लिए कुछ भी नहीं कर सके।”

वृद्ध महिला कहती है कि इस घटना ने उन्हें आघात पहुँचाया है और अब वे भी इस क्षेत्र में रहने से डरने लगी हैं। रिंकू की मौत से पीड़ित पड़ोसी ने कहा “राम-राम तो सभी करते हैं, आज इस बच्चे को मारा है, राम के नाम पर मारा है, ऐसा नहीं होना चाहिए। दोषियों को मौत की सजा होनी चाहिए।”

वीडियो में माया देवी को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि रिंकू शर्मा एक बहुत ही अच्छा और लायक लड़का था। वह राम और बालाजी (हनुमान) का भक्त था। लेकिन हमलावरों ने उनकी आँखों के सामने उसे मार डाला। अब वह भी डर गई हैं। बिलखते हुए वृद्ध महिला कहती हैं, “खून का बदला खून, बदला चाहिए हमें।”

गौरतलब है कि हमने आपको पिछले रिपोर्ट में बताया था कि कैसे पश्चिम विहार के एक अस्पताल में लैब टेक्नीशियन की नौकरी करने वाले रिंकू शर्मा को मौत के घाट के घाट उतार दिया गया था। रिंकू की माँ राधा देवी के अनुसार छुरा घोंपने के दौरान भी उनका बेटा जय श्री राम का नारे लगा रहा था। उन्होंने यह भी कहा कि बजरंग दल से जुड़ने पर उनके मृत बेटे को धमकी भी दी गई थी।

बजरंग दल के एक अन्य कार्यकर्ता ने घटना की सूचना देते हुए बताया कि जिस चाकू से रिंकू शर्मा को मारा गया था, वह उसकी पीठ में धँस गया था। आरोपितों ने शायद दोबारा से चाकू मारने की मंशा से उसकी पीठ से चाकू बाहर निकालने की बहुत कोशिश की थी। हालाँकि वह नाकामयाब रहे। फिर उन्होंने निर्दयतापूर्वक रिंकू की पीठ के अंदर चाकू को और धकेल दिया। जिससे रिंकू गंभीर रूप से घायल हो गया। इसके बाद वह भाग गए।

खून से लथपथ रिंकू को मंगोलपुरी के संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। गुरुवार दोपहर 12 बजे उसने दम तोड़ दिया। हमें यह भी पता चला कि उस उन्मादी मुस्लिम भीड़ का हिस्सा महिलाएँ भी थी, जो चाकू, लाठी और डंडों के साथ घर में घुसी थी।

घर में घुसने के बाद भीड़ ने रिंकू शर्मा के परिवार के सदस्यों पर लाठी और डंडों से धावा बोल दिया। उन्होंने कथित तौर पर गैस सिलेंडर भी लीक कर दिया। इस बीच रिंकू शर्मा ने वहाँ से भागने की कोशिश की। जिसके बाद भीड़ में से कुछ लोगों ने रिंकू को पकड़ लिया और एक तेज चाकू से उस पर वार कर दिया।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति