Saturday , February 27 2021

पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पहुँचाने वालों की खैर नहीं, अब सीएम खट्टर ने कहा- लाएँगे ‘वसूली’ कानून

किसान आंदोलन के बीच हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर का बड़ा बयान सामने आया है। जिसमें वह यूपी केंद्र सरकार द्वारा पारित कृषि कानूनों के खिलाफ हो रहे आंदोलन की आड़ में उपद्रव मचाने वाले दंगाइयों को लेकर सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि किसी को भी सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान करने का अधिकार नहीं है, हम इससे संबंधित क़ानून लेकर आ रहे हैं।

बता दें, हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने आज (13 फरवरी, 2020) केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान आंदोलन पर भी चर्चा हुई। सीएम ने कहा, “किसी को भी सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान करने का अधिकार नहीं है, हम इससे संबंधित क़ानून लेकर आ रहे हैं।”

सीएम खट्टर ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को धरनों और किसान पंचायतों को लेकर सारी जानकारी दी है। मनोहरलाल खट्टर ने बताया कि जो भी आंदोलनकारी भविष्य में पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पहुँचाएगा, वही उसकी भरपाई करेगा। इसके लिए विधानसभा के सत्र में कानून लेकर आएँगे। मंत्रिमंडल विस्तार पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जब भी मंत्रिमंडल विस्तार होगा उसकी जानकारी दे दी जाएगी।

गौरतलब है कि पिछली बार सीएम ने आंदोलनजीवियों पर प्रकाश डालते हुए कहा था, कि कुछ लोग सिर्फ इसलिए आंदोलन कर रहे हैं कि उन्हें केंद्र के कानूनों के खिलाफ विरोध करना है।

उल्लेखनीय है कि देश की राजधानी दिल्ली में 26 जनवरी को कथित किसानों ने ट्रैक्टर रैली की आड़ में जमकर उत्पात मचाया, तोड़फोड़ की और लाल जिले की प्राचीर पर चढ़कर तिरंगे का अपमान करते हुए धार्मिक झंडा फहरा दिया था। जिसके बाद अब इस मामले में गहन जाँच के लिए दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम गिरफ्तार दीप सिद्धू और इकबाल सिंह को आज लाल किला लेकर पहुँची थी। जहाँ लाल किले पर हुई घटना के सीन को रीक्रिएट किया गया।

रिपोर्ट के मुताबिक, हिंसा उकसाने के आरोपितों दीप सिद्धू और इकबाल सिंह को लेकर दिल्ली पुलिस शनिवार को उन रास्तों पर गई, जहाँ-जहाँ से उपद्रवी लाल किले तक पहुँचे थे। लाल किले के भीतर दोनों कहाँ-कहाँ गए और क्‍या-क्‍या किया और किस प्रकार हिंसा के बाद ये लोग लौटकर गए। पुलिस ने यह जानने के लिए सीन रीक्रिएट किया है।

पुलिस के अनुसार, 26 जनवरी को लाल किले में हुई हिंसा और अराजकता के पीछे मुख्य रूप से दीप सिद्धू का हाथ था। उसे दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ के दल ने सोमवार की रात को हरियाणा में करनाल बाइपास के पास से गिरफ्तार किया था।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति