Sunday , March 7 2021

FASTag किन-किन गाड़ियों के लिए जरूरी, कहां से बनवाएं और कितनी फीस?

नई दिल्‍ली। आज रात 12 बजे के बाद से (15-16 फरवरी की आधी रात) देशभर में सभी गाड़ियों के लिए FASTag अनिवार्य हो जाएगा. ऐसे में आप अगर कल सुबह हाईवे पकड़ कर घूमने निकलने वाले हैं या किसी की शादी में जा रहे हैं तो यहां जान लीजिए कि आपकी गाड़ी के लिए FASTag जरूरी है या नहीं…

सफेद नंबर प्लेट वाले वाहन
अगर आपकी गाड़ी की नंबर प्लेट सफेद रंग की है तो फिर हाइवे पर टोल प्लाजा से गुजरने के लिए आपके पास FASTag होना जरूरी है. अगर ऐसा नहीं है तो टोल प्लाजा से गुजरने पर आपको दोगुना भुगतान करना होगा.

बुलेट की सवारी सस्ती
हालांकि FASTag की अनिवार्यता से दोपहिया वाहनों को दूर रखा गया है. NHAI के हाइवे पर दोपहिया वाहनों पर टोल नहीं लगता है तो अगर आप अपनी बुलेट से कहीं निकलें हैं तो बेफिक्र होकर घूमिए. लेकिन अगर आप कोई एक्सप्रेसवे पकड़ रहे हैं अपनी यात्रा के लिए तो उस पर आपको टोल देना पड़ सकता है.

कमर्शियल वाहन
यदि आप कमर्शियल वाहन चलाते हैं, मतलब कि आपकी गाड़ी की नंबर प्लेट यदि पीले रंग की है तो फिर ट्रक हो या कैब, आपको हाइवे पर टोल प्लाजा से गुजरने के लिए FASTag चाहिए ही चाहिए.

कहां से खरीदें FASTag
NHAI ने देशभर में 40,000 से ज्यादा केंद्र स्थापित किए हैं, जहां से आप FASTag खरीद सकते हैं. इसके अलावा फ्लिपकार्ट, पेटीएम और अन्य डिजिटल वॉलेट कंपनियां भी इसकी बिक्री कर रही है, तो आप इसे घर बैठे मंगाकर भी अपनी कार की सामने वाली विंडस्क्रीन पर लगा सकते हैं. इसे आप यूपीआई, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड से भी रिचार्ज कर सकते हैं. अगर फास्टैग बैंक खाते से लिंक होता है, तो पैसे खाते से ऑटोमैटिक कट जाते हैं.

नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने फास्टैग की कीमत 100 रुपये तय की है. इसके अलावा 200 रुपये की सिक्युरिटी डिपॉजिट देनी पड़ती है.

कैसे बनवाएं FASTag
आप ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन के रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट की कॉपी जमा करके फास्टैग खरीदा सकते है. बैंक केवाईसी के लिए यूजर्स के पैन कार्ड और आधार कार्ड की कॉपी भी मांगते हैं.

कैसे काम करता है फास्टैग
फास्टैग एक स्टीकर होता है जो वाहनों के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है. टोल पर क्रॉसिंग के दौरान डिवाइस रेडियो फ्रिक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी की मदद से टोल प्लाजा पर लगे स्कैनर से कनेक्ट होता है और फिर फास्टैग से जुड़े अकाउंट से पैसे कट जाते हैं. जिससे टोल प्लाजा पर रुकने की जरूरत नहीं होती है.

रखें इसका ध्यान
FASTag वाले वाहन जब भी टोल प्लाजा से गुजरें तो उनकी रफ्तार 25 से 30 किलोमीटर प्रति घंटा होनी चाहिए. गाड़ी को टोल प्लाजा पर रोकना नहीं चाहिए, यदि टोल प्लाजा से बहुत धीरे गाड़ी निकालते हैं तो बूम बैरियर से टकरा सकते हैं क्योंकि एक निश्चित समय के बाद वह बैरियर गिर जाता है. यदि आपका FASTag नहीं पढ़ा जाता है तो टोल प्लाजा कर्मी से बात करें वह हाथ में पकड़ने वाली मशीन से FASTag रीड कर देगा.

दोगुना चार्ज लगेगा
अगर आपका FASTag काम नहीं कर रहा है या वैलिड नहीं है तो हाईवे से गुजरने पर आपको दोगुना टोल देना पड़ेगा. FASTag नहीं होने पर भी यही नियम लागू होगा.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति