Tuesday , March 9 2021

‘गुलामी की मानसिकता वालों ने लिखा इतिहास, राष्ट्र रक्षक सुहेलदेव को नहीं दिया मान’: PM मोदी ने किया शिलान्यास

नई दिल्‍ली। उत्तर प्रदेश के बहराइच में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से महाराजा सुहेलदेव मेमोरियल का शिलान्यास किया। इस दौरान वहाँ पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे। उत्तर प्रदेश में इस वर्ष पंचायत चुनाव और अगले वर्ष विधानसभा चुनाव होने हैं। यूपी का राजभर समुदाय खुद को महाराज सुहेलदेव का वंशज मानता है। इस दौरान सीएम योगी ने भी राजा सुहेलदेव को याद किया।

उन्होंने कहा कि पहली बार किसी सरकार ने महाराजा सुहेलदेव के लिए इतना बड़ा कार्यक्रम किया है और दुनिया को उनकी शौर्य गाथा बताई जा रही है। उन्होंने कहा कि ये आज से लगभग 1000 वर्ष पूर्व विदेशी आक्रांता से इस धरती को पूरी तरह सुरक्षित करने के लिए अपने शौर्य और पराक्रम का प्रदर्शन करने वाले धर्मरक्षक महाराजा सुहेलदेव की पावन जयंती का कार्यक्रम है। उन्होंने कार्यक्रम में पीएम मोदी का भी स्वागत किया।

सीएम योगी ने कहा, “भारतीय स्वाभिमान, संस्कृति और शाश्वत सनातन मूल्यों की रक्षा के लिए आजीवन संघर्ष करने वाले महान शासक, ‘राष्ट्र रक्षक’ महाराजा सुहेलदेव जी को उनकी जयंती पर कोटि-कोटि श्रद्धांजलि। आपका पराक्रम और संघर्ष हमें राष्ट्र आराधना के लिए सदैव प्रेरित करता रहेगा।” बता दें कि राजा सुहेलदेव पर अमिश त्रिपाठी ने एक पुस्तक भी लिखी है, जिस पर फिल्म बनाने की योजना है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस दौरान अपने पराक्रम से मातृभूमि का मान बढ़ाने वाले, राष्ट्रनायक महाराजा सुहेलदेव की जन्मभूमि और ऋषि मुनियों ने जहाँ तप किया, बहराइच की उस पुण्यभूमि को नमन करते हुए लोगों को बसंत पंचमी की मंगलकामनाएँ दी। उन्होंने कामना की कि माँ सरस्वती भारत के ज्ञान-विज्ञान को और समृद्ध करें। उन्होंने कहा कि ये आधुनिक और भव्य स्मारक, ऐतिहासिक चित्तौरा झील का विकास, बहराइच पर महाराजा सुहेलदेव के आशीर्वाद को बढ़ाएगा और आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करेगा।

प्रधानमंत्री ने जानकारी दी कि आज महाराजा सुहेलदेव जी के नाम पर बनाए गए मेडिकल कॉलेज को एक नया और भव्य भवन भी मिला है। उन्होंने कहा कि भारत का इतिहास सिर्फ वो नहीं है, जो देश को गुलाम बनाने वालों, गुलामी की मानसिकता के साथ इतिहास लिखने वालों ने लिखा, भारत का इतिहास वो भी है जो भारत के सामान्य जन में, भारत की लोकगाथाओं में रचा-बसा है। जो पीढ़ी दर पीढ़ी बढ़ा है।

उन्होंने कहा कि बीते कुछ सालों में देश भर में इतिहास, आस्था, अध्यात्म, संस्कृति से जुड़े जितने भी स्मारकों का निर्माण किया जा रहा है, उनका बहुत बड़ा लक्ष्य पर्यटन को बढ़ावा देने का भी है। उत्तर प्रदेश तो पर्यटन, तीर्थाटन दोनों के मामले में समृद्ध भी है और इसकी क्षमताएँ भी अपार हैं। पीएम मोदी ने कहा कि भारत के अनेक ऐसे सेनानी हैं, जिनके योगदान को अनेक वजहों से मान नहीं दिया गया। उन्होंने पूछा कि चौरी-चौरा के वीरों के साथ जो हुआ, वो क्या हम भूल सकते हैं? महाराजा सुहेलदेव और भारतीयता की रक्षा के लिए उनके प्रयासों के साथ भी यही प्रयास किया गया।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति