Sunday , February 28 2021

उन्नाव कांडः तीन थ्योरी पर काम कर रही थी पुलिस, सही निकला लव एंगल

पुलिस इस मामले में फूंक फूंक कर कदम रख रही है

लखनऊ/उन्नाव। उन्नाव कांड पुलिस के लिए गले की फांस बन गया था. लेकिन अब पुलिस ने इस केस का खुलासा कर दिया है. दो आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ चुके हैं. इससे पहले पुलिस ने इस मामले को जल्द सुलझा लेने का दावा किया था. दरअसल, पुलिस इस केस में तीन एंगल से तहकीकात कर रही थी. जिसमें से एक थ्योरी सही साबित हो गई.

कहीं ये ऑनर किलिंग का मामला तो नहीं? कहीं ये प्रेम प्रसंग में हत्या का मामला तो नहीं? कहीं ये लड़कियों के द्वारा सामूहिक खुदकुशी करने की कोशिश तो नहीं? पुलिस इन तीनों एंगल पर जांच कर रही थी. परिवार का बयान हालांकि विरोधाभासी थे. लेकिन आज एक मृत लड़की जो रिश्ते में दो की बुआ थी, उसकी मां ने आजतक को बताया कि सबसे पहले उसने, उसके पति और जिंदगी और मौत से जूझ रही लड़की की मां ने तीनों लड़कियों को खेत मे देखा था. उन सभी के हाथ-पांव और गला दुपट्टे से बांधे गए थे और उनके साथ रेप की कोशिश की गई.

परिवार इस मामले में हत्या का दावा कर रहा है. पुलिस ने भी एफआइआर में आईपीसी की धारा 302 और 201 लगाई है. जिसमें हत्या और साक्ष्य मिटाने की कोशिश का मामला दर्ज किया गया है. लेकिन आखिर ये हत्या किसने की? क्योंकि आस पड़ोस और गांव के लोगों पर परिवार को शक नहीं है. और परिवार आरोपी के तौर पर किसी का नाम नहीं बता पा रहा. इस मामले में पुलिस तीन थ्योरी पर कर रही थी.

क्या कोई प्रेम संबंध का मामला था. जिसकी परिवार को इसकी भनक थी. तीनों लड़कियों का परिवार ऐसी किसी थ्योरी से इनकार कर रहा है. दरअसल, तीनों लड़कियां जो आपस मे बहनें और बुआ भतीजी थी. तीनों पक्की सहेलियां भी थीं. एक साथ पढ़ना, खेलना, स्कूल जाना. तीनों ज्यादातर वक्त साथ में ही बिताती थी. तीनों लड़कियां गांव से करीब 2 किमी दूर पाठकपुर के सरकारी स्कूल में साथ पढ़ती थीं.

हालांकि क्लास भले ही अलग हो लेकिन घर से स्कूल तक एक साथ का रिश्ता था. पुलिस ने पूछताछ के लिए पाठकपुर इलाके के तीन लड़कों को भी हिरासत में लिया है. और प्रेम संबंधों के एंगल पर उनसे पूछताछ की जा रही है. गांव में इस बात की चर्चा है कि कुछ दिन पहले किसी लड़के से बातचीत को लेकर मृत बुआ के घर मे लड़ाई हुई थी.

जबकि उनके पास एंड्राइड फ़ोन होने का भी दावा किया जा रहा है, लेकिन परिवार ऐसी थ्योरी को खारिज कर रहा है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक फोन मिला है. जिसे खंगाला जा रहा है. तो क्या प्रेम संबंधों में ये हत्या की गई है? क्या गांव के बाहर के लड़के इसमे शामिल हैं? कई ऐसे सवाल हैं, जिनके जवाब पर पुलिस काम कर रही थी.

थ्योरी-2
दूसरी थ्योरी ऑनर किलिंग की थी. और पुलिस के शक की सुई भी उधर घूम रही थी. क्योंकि एक चर्चा आम है कि पिता ने अपने बेटे को डांटते हुए यह कहा कि तुमने यह क्या किया. घटना के बाद से सूरज उर्फ कल्लू से पुलिस लगातार पूछताछ कर रही थी और यह बात भी निकल कर आई थी कि कल्लू ने सबसे पहले  तीनों लड़कियों के बारे में सूचना दी थी. लेकिन उसकी मां का दावा है कि दोनों लड़कियों को खेत मे सबसे पहले उसने और उसके पति ने देखा था.

शुक्रवार को पूछताछ के बाद कल्लू ने बताया कि उसकी बहन के किसी के साथ कोई गलत संबंध नहीं थे. हालांकि गांव में दबी जुबान से सबसे ज्यादा चर्चा ऑनर किलिंग की ही हो रही थी. मामला गहरी तफ्तीश का है. पुलिस इस एंगल पर भी काम कर रही थी.

थ्योरी-3
तीसरी थ्योरी सामूहिक आत्महत्या की थी. सवाल है कि क्या उन तीनों लड़कियों ने सामूहिक रूप से खुदकुशी करने की कोशिश की? क्या कोई ऐसा संबंध या राज था, जो तीनों ही जानती थीं और परिवार में भेद खुलने के डर से तीनों ने एक साथ जहर खा लिया. घर के पास की दुकान से तीनों लड़कियों ने नमकीन चिप्स खरीदे थे. जिसके रैपर भी वारदात की जगह से बरामद हुए हैं. कहीं किसी ने उन्हें इस चिप्स में जहर तो मिलाकर नहीं दिया था.

कहीं चिप्स में जहरीला पर्दाथ मिलाकर आत्महत्या की कोशिश तो नहीं हुई थी. या फिर किसी ने उन्हें ज़बरन जहर तो नहीं खिलाया था. या उनके हाथ बंधे थे और दुपट्टे से गला घोंटने की कोशिश की गई थी. इस तरह के तमाम सवाल पुलिस के सामने थे. लेकिन मामले का खुलासा हो जाने के बाद सारी तस्वीर साफ हो गई. पुलिस ने इस मामले को खोलने के लिए 6 टीमें बनाई थी.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति