Thursday , July 29 2021

CM योगी के नेतृत्व में यूपी GSDP के मामले में बना भारत का दूसरा सबसे बड़ा राज्य: कोरोना काल में तरक्की का कीर्तिमान

लखनऊ। योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाला उत्तर प्रदेश, 19.48 लाख करोड़ रुपए के साथ सकल राज्य घरेलू उत्पाद (GSDP) के मामले में भारत का दूसरा सबसे बड़ा राज्य बन गया है। इस प्रक्रिया में, राज्य ने गुजरात, कर्नाटक और तमिलनाडु को पीछे छोड़ दिया है। 2019-2020 में यूपी पाँचवें स्थान पर था और 2020-2021 में, उसने तमिलनाडु के साथ अपनी स्थिति बदलने के लिए, तीन रैंक की छलाँग लगाई।

सरकार के आँकड़ों से पता चलता है कि वित्त वर्ष 2020-21 में उत्तर प्रदेश की जीएसडीपी ने 19.48 लाख करोड़ रुपए का आँकड़ा पार कर लिया है, जो राज्य को 2019-20 में पाँचवे स्थान से दूसरे स्थान पर पहुँचा देता है। इस खबर को यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया।

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “वैश्विक महामारी कोरोना जनित आर्थिक मंदी के उपरांत भी उत्तर प्रदेश, सकल राज्य घरेलू उत्पाद (GSDP) के मामले में भारत का दूसरा सबसे बड़ा राज्य बन गया है। यह आदरणीय प्रधानमंत्री जी के कुशल मार्गदर्शन एवं समस्त प्रदेशवासियों के परिश्रम का सुफल है। सभी को हार्दिक बधाई।”

टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित एक खबर में कहा गया है, राज्य राष्ट्रीय स्तर पर एक सशक्त प्रभाव छोड़ने के लिए सुर्खियों में रहा है और व्यापार करने में आसानी से दूसरी रैंक पर पहुँच गया और इसी के साथ किसान सम्मान निधि वितरण में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाला राज्य घोषित किया गया। सीएम योगी ने बुधवार को विधानसभा में घोषणा की थी कि राज्य सरकार ने किसान सम्मान निधि योजना के तहत 2.37 करोड़ किसानों को लाभान्वित करने के लिए केंद्र सरकार से प्रमाण पत्र प्राप्त किया है।

कथित तौर पर, महाराष्ट्र जीएसडीपी सूची में 30.7 लाख करोड़ रुपए के साथ सबसे ऊपर है, इसके बाद यूपी का 19.48 लाख करोड़ रुपए है। तमिलनाडु राज्य जो पिछले साल नंबर 2 पर था, 19.2 लाख करोड़ रुपए के साथ 3 पर फिसल गया। कर्नाटक ने 18 लाख करोड़ रुपए जीएसडीपी दर्ज किया है जबकि गुजरात ने 17.4 लाख करोड़ रुपए।

रिपोर्ट में आगे उल्लेख किया गया है कि मुख्यमंत्री ने सदन को सूचित किया है कि फरवरी 2018 में निवेशकों के शिखर सम्मेलन के दौरान 4.28 लाख करोड़ रुपए के MoUs पर हस्ताक्षर किए गए थे और 3 लाख करोड़ रुपए की परियोजनाएँ जमीनी स्तर पर शुरू हुई हैं। पिछले दो वर्षों में राज्य का निर्यात भी बढ़कर 32 प्रतिशत हो गया है।

जीएसडीपी सूची में उत्तर प्रदेश की प्रभावशाली चढ़ाव को आंशिक रूप से योगी आदित्यनाथ द्वारा कोरोनावायरस के प्रकोप से निपटने को भी श्रेय दिया जा सकता है। देश में सबसे अधिक आबादी वाले राज्यों में से एक होने के बावजूद, उत्तर प्रदेश ने सीमा के भीतर COVID-19 के प्रकोप को नियंत्रित करने में सफलता प्राप्त की है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति