Monday , April 19 2021

पंजाब की राजनीति में प्रशांत किशोर की एंट्री, कैप्टन का बड़ा ऐलान, संभालेंगे ये बड़ा पद!

पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बड़ी जीत दिलाने के 4 साल बाद चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की पंजाब में फिर से वापसी हो रही है, सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पीके को अपना प्रमुख सलाहकार नियुक्त किया है, सीएम ने कहा कि वो पीके के साथ मिलकर पंजाब के लोगों की बेहतरी के लिये काम करेंगे, सीएम ने ट्वीट किया, ये बताने में खुशी हो रही है, कि प्रशांत किशोर को मैंने अपने प्रमुख सलाहकार के रुप में नियुक्त किया है, पंजाब के लोगों की भलाई के लिये हम एक साथ काम करने के लिये तत्पर है।

अगले साल चुनाव

मामले में प्रशांत किशोर ने मीडिया से कहा कि ये पेशकश पिछले एक साल से उनके पास थी, और कैप्टन अमरिंदर सिंह उनके लिये परिवार की तरह हैं, pk (2)पीके ने कहा कि मैं उन्हें ना नहीं कह सका… सीएम ऑफिस ने ट्वीट कर बताया कि पीके को कैबिनेट मंत्री रैंक दी गई है, मालूम हो कि पंजाब में 2022 के शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं।

2017 में बड़ी जीत

पिछले विधानसभा चुनाव में 117 में से कांग्रेस को 77 सीटें मिली थी, इससे पहले 2012 में पार्टी को सिर्फ 46 सीटें मिली थी, उसे अकाली दल-बीजेपी गठबंधन से हार का मुंह देखना पड़ा था, पीके और उनकी आईपैक ने 2017 की जीत में बड़ी भूमिका निभाई थी, amarinder singhयुवा वोटरों को ऑकर्षित करने के लिये कॉफी विद कैप्टन जैसी चीजों को अभियान में शामिल किया गया था, हालांकि 2017 यूपी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा, जिसके बाद उन्होने कांग्रेस से दूरी बना ली थी।

कांग्रेस की मजबूत स्थिति

अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले पंजाब में कांग्रेस मजबूत स्थिति में दिख रही है, पार्टी ने पिछले महीने की शुरुआत में हुए स्थानीय निकाय चुनावों में 7 नगर निगमों में बड़ी जीत हासिल की है, यहां तक कि बठिंडा में भी पार्टी को जीत मिली, जो कि अकालियों का गढ कहा जाता था, 50 सालों में पहली बार कांग्रेस ने नगरपालिका में सत्ता हासिल की है। अमरिंदर सिंह ने कहा कि ये जीत पंजाब में अकालियों, बीजेपी और आप को खारिज किये जाने के बारे में बताता है, 2022 चुनाव को लेकर सीएम को उम्मीद होगी, कि प्रशांत किशोर राज्य चुनावों में अपने सफल ट्रैक रिकॉर्ड को दोहरा सकते है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति