Saturday , May 8 2021

‘दलित भाई-बहनों से इतनी नफरत’: सिलीगुड़ी में बोले PM मोदी- दीदी आपको जाना होगा

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में आज (अप्रैल 10, 2021) 5वें चरण के प्रचार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिलीगुड़ी में चुनावी रैली करने पहुँचे। जनसभा संबोधित करते हुए उन्होंने तृणमूल कॉन्ग्रेस के नेताओं और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा।

पीएम ने कहा कि वह बंगाल में दीदी और टीएमसी की मनमानियाँ नहीं चलने देंगे। उत्तर बंगाल में घोषणा हो चुकी है कि टीएमसी जाएगी और भाजपा आएगी। कूचबिहार की घटना पर दुख जताते हुए पीएम ने कहा कि दीदी और उनके गुंडों की बौखलाहट बेकाबू हो रही है।

अपने संबोधन में उन्होंने राज्य में दशकों से तैयार हुए राजनीतिक माहौल को लेकर कहा कि अब इसे बदलने का समय है। हिंसा करना, सुरक्षाबल पर हमले के लिए लोगों को उकसाना, चुनाव प्रक्रिया में रोड़ा अटकाना, दीदी को नहीं जिता पाएगा।

‘आसोल पॉरिबोर्तोन’ पर बात करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोगी ने सोशल मीडिया पर वायरल हो रही उन वीडियो का जिक्र किया जिसमें टीएमसी विधायक धमकी दे रहे हैं कि बीजेपी को वोट दिया तो लोगों को उठाकर बाहर फेंक दिया जाएगा।

पीएम बोले, “दीदी, ओ दीदी! बंगाल के लोग यहीं रहेंगे। अगर जाना ही है तो सरकार से आपको जाना होगा। दीदी आप बंगाल के लोगों की भाग्य विधाता नहीं हैं। बंगाल के लोग आपकी जागीर नहीं हैं।”

अपने संबोधन में पीएम ने टीएमसी नेता सुजाता मंडल के ‘भिखारी’ वाले बयान को लेकर टीएमसी की सोच पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा, “एक वीडियो सामने आया है जिसमें दीदी की करीबी एक नेता ने अनुसूचित जाति के लोगों का बहुत बड़ा अपमान किया है। उन्होंने कहा कि बंगाल में जो अनुसूचित जाति है, Schedule Caste समुदाय है वो भिखारियों की तरह व्यवहार करती है।” आगे पीएम ने दीदी से पूछा, “क्या SC समुदाय के मेरे भाई बहनों और उनके बच्चों से आप, आपकी पार्टी, आपके नेता इतनी नफरत करते हैं?”

इसके बाद उन्होंने बताया कि कैसे ममता सरकार को कभी गुंडो, हत्यारों, लुटेरों, तोलाबाजों पर गुस्सा नहीं आया, लेकिन वह सुरक्षाबल पर गुस्सा कर रही हैं, सिर्फ इसलिए क्योंकि वो बंगाल के लोगों के अधिकार की रक्षा कर रहे हैं। पीएम ने कहा कि दीदी के गुंडे इस बार वोट नहीं छाप पा रहे इसलिए दीदी नाराज हैं।

गरीब, दलित, आदिवासियों, पिछड़ों को कभी हक न दिए जाने पर पीएम ने सवाल उठाया और कहा कि बंगाल में नल से जल नहीं आया, सिंचाई को पानी नहीं मिला, लेकिन नदियाँ माफियों को दे दी गई। उन्होंने किसान परिवारों को उनका हक दिलाने के वादे को दोहराया। उन्हें आश्वस्त किया कि बीजेपी के आते ही पहली बैठक में उनके हित में फैसले लेने का काम शुरू होगा। जो 18 हजार रुपया किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि का नहीं दिया गया है, उसे भी खातों में जमा किया जाएगा।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति