Thursday , June 24 2021

ड्यूटी से नदारद मिले 28 सफाईकर्मी, 1 दिन के वेतन पर रोक

हरदोई। जिले में अपनी ड्यूटी से नदारद रहने वाले 28 सफाई कर्मियों का 1 दिन का वेतन रोका गया है. कोविड-19 की रोकथाम के लिए ग्राम पंचायतों में सफाई कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है. लेकिन स्थलीय सत्यापन में 28 सफाईकर्मी अपनी ड्यूटी से अनुपस्थित पाए गए. ऐसे में सफाई कर्मियों द्वारा अपने दायित्वों का निर्वहन नहीं किया गया. लिहाजा जिला पंचायत राज अधिकारी ने ड्यूटी से नदारद रहने वाले सफाई कर्मियों का 1 दिन का वेतन रोक दिया है.

जिले में कोरोना वायरस महामारी के अन्तर्गत कोविड-19 की रोकथाम हेतु समस्त ग्राम पंचायतों में सफाई कर्मियों को, निर्धारित ग्राम पंचायत में सफाई करने हेतु रोस्टर निर्गत किया गया है. इसी क्रम में ग्राम पंचायतों से सत्यापन के दौरान 28 सफाई कर्मी कार्यस्थल पर अनुपस्थित पाए गए. अनुपस्थित पाए गए कर्मियों में विकास खण्ड अहिरोरी के दृगपाल, लक्ष्मी, विकास खण्ड हरियावां के अमित कुमार, बाकेंलाल तथा सर्वेश कुमार, वि.खं. टडियावां के सर्वेश कुमार, सुनीता देवी, सुन्दर लाल, शिव कुमार, संजय कुमार, राम नरायन, वीरेन्द्र कुमार, हरि नारायन, प्रदीप कुमार, तथा विनोद कुमार, वि.खं. बावन के सतीश कुमार वर्मा, रेनू देवी, वि.खं. शहाबाद की नीलम देवी, वि.खं. हरपालपुर के राधेश्याम, मनोज कुमार, वि.खं. माधौगंज के चेतराम, वि.खं. टोडरपुर के शरीफ मोहम्मद, अनिल कुमार, वि.खं. सण्डीला के पवन कुमार, सजीत कुमार, रमेश कुमार, तथा वि.खं. कोथावा के रामासरे, चेतराम, तथा दिनेश वाल्मीकि अनुपस्थित पाये गये.

ऐसे में सफाई कर्मियों को दिये गये दायित्वों एवं आदेशों का निर्वाहन नहीं किया गया. ऐसी स्थिति में अनुपस्थित पाये गए सफाईकर्मियों को, जिला पंचायत राज अधिकारी गिरीश कुमार ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है. इस बारे में जिला पंचायत राज अधिकारी गिरीश कुमार ने बताया कि रोस्टर के अनुसार समस्त ग्राम सभाओं में सफाई कर्मियों को लगाया गया है. ऐसे में जब सत्यापन कराया गया, तो 28 सफाई कर्मी कार्यस्थल पर अनुपस्थित पाए गए, जिनका 1 दिन का वेतन रोका गया है. साथ ही उनसे सहायक विकास अधिकारियों के जरिए स्पष्टीकरण मांगा गया है. संतोषजनक उत्तर न मिलने पर इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति