Thursday , June 24 2021

डॉक्टर के कपड़े उतारे, घसीट-घसीट कर मारा: कमरुद्दीन समेत 24 गिरफ्तार, CM हिमंत बिस्वा सरमा बोले- बर्दाश्त नहीं करेंगे

असम के होजाइ जिले में स्थित एक कोविड केयर सेंटर में एक मरीज की मौत के बाद उसके परिजनों ने डॉक्टर के साथ मारपीट की। मंगलवार (जून 1, 2021) को हुई इस घटना के मामले में अब तक 24 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें मोहम्मद कमरुद्दीन, मोहम्मद जैनलुद्दीन, रेहनुद्दीन, सईदुल आलम, रहीमुद्दीन, राजुल इस्लाम, तैयबर रहमान और साहिल इस्लाम शामिल हैं। पीड़ित डॉक्टर सेजु कुमार सेनापति उडाली कोविड केयर सेंटर में तैनात थे।

असम के स्पेशल DGP जीपी सिंह ने बताया कि होजाइ के एसपी को उन्होंने सभी आरोपितों की तुरंत धर-पकड़ करने का निर्देश दे दिया था। इसके बाद मंगलवार को ही अर्धरात्रि तक 8 आरोपितों को दबोच लिया गया। जीपी सिंह ने आश्वासन दिया कि एक-एक दोषी को कानूनन सज़ा दिलाई जाएगी। अगले दिन 4 बजे तक 24 आरोपित गिरफ्तार कर लिए गए। आरोपितों में एक महिला भी है, जिसे वीडियो में डॉक्टर के साथ मारपीट करते हुए देखा जा सकता है।

स्पेशल DGP ने आश्वासन दिया है कि इस मामले में कम से कम समय में एक मजबूत चार्जशीट बनाई जाएगी, ताकि अदालत में आरोपितों के खिलाफ साक्ष्य और गवाह पेश किए जा सकें। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसमें बदमाशों का समूह अस्पताल के भीतर घुस कर डॉक्टर के कपड़े उतार कर उन्हें घसीट-घसीट कर पीट रहा था। लात-घूसों से डॉक्टर की पिटाई की गई थी। उनमें से एक अपने हाथ में बर्तन लेकर ताबड़तोड़ वार कर रहा था।

इसके बाद सभी आरोपित डॉक्टर को पकड़ कर अस्पताल के बाहर ले गए, जहाँ एक पुलिसकर्मी भी मौजूद था। हालाँकि, उत्पाती भीड़ के सामने सब बेबस थे। डॉक्टर कमल देबनाथ ने मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा को टैग कर के इस तरह उनका ध्यान आकृष्ट कराया। डॉक्टर देबनाथ ने कहा कि सीएम खुद देखें कि राज्य में फ्रंटलाइन वर्कर्स की क्या हालत है। उन्होंने कहा कि इस निष्क्रियता की सज़ा डॉक्टर भुगत रहे हैं।

इसके बाद मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि इस तरह की असभ्य हरकत को उनके प्रशासन द्वारा बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। फिर उन्होंने असम पुलिस को आवश्यक कार्रवाई के लिए निर्देश दिए। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिख कर मेडिकल कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आग्रह करते हुए कहा कि पूरे देश में इस तरह की घटनाएँ सामने आ रही हैं, इसीलिए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

पुलिस ने बताया है कि गिरफ्तार किए जाने वालों में मुख्य आरोपित के अलावा इस घटना की साज़िश रचने वाले भी शामिल हैं। मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि वो व्यक्तिगत रूप से इस घटना के सम्बन्ध में हो रही कार्रवाई की निगरानी कर रहे हैं और वादा करते हैं कि न्याय होगा। पीड़ित डॉक्टर ने बताया कि बदमाशों की भीड़ के कारण मेडिकल कर्मचारियों को अस्पताल में ताला लगा कर भागना पड़ा। अस्पताल की खिड़कियों सहित सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुँचाया गया।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति