Thursday , June 24 2021

जिसने PM मोदी के लिए कहा था- बोटी-बोटी कर देंगे, उस इमरान मसूद को कॉन्ग्रेस ने बनाया AICC सचिव

हिंदू और मोदी विरोधी बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले इमरान मसूद को कॉन्ग्रेस ने राष्ट्रीय सचिव बनाया है। बतौर ऑल इंडिया कॉन्ग्रेस कमेटी (AICC) के सचिव उन्हें दिल्ली की जिम्मेदारी दी गई है। गुरुवार 3 जून 2021 को कॉन्ग्रेस ने ​5 नामों की घोषणा की जिन्हें AICC सचिव के तौर पर अलग-अलग राज्यों की जिम्मेदारी दी गई है। इनमें एक नाम मसूद का भी है। 2014 के लोकसभा चुनावों से मसूद ने नरेंद्र मोदी की बोटी-बोटी करने की धमकी दी थी।

टाइम्स नाऊ की रिपोर्ट बताती है कि कोरोना काल में इमरान मसूद के काम को देखते हुए उन्हें यह जिम्मेदारी दी गई है। खबर के अनुसार, पार्टी जानती है कि इस नियुक्ति से उनकी आलोचना होगी क्योंकि मसूद हमेशा ही नेगेटिव कारणों से मीडिया चर्चा में रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि ऑल इंडिया कॉन्ग्रेस कमेटी ने कुछ संगठनात्मक बदलाव किए हैं। इसमें कॉन्ग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन पद जिम्मेदारी इमरान प्रतापगढ़ी को दी गई है। इसके अलावा कुछ AICC सचिवों की भी नियुक्ति हुई है।

पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी ने इन सचिवों की नियुक्ति की है। सप्तगिरि उलका को छत्तीसगढ़, दीपिका पांडे को उत्तराखंड, संजय दत्त को हिमाचल प्रदेश और ब्रजलाल बिहारी को बिहार की जिम्मेदारी मिली है।

इमरान मसूद को लेकर हुए विवाद

बता दें कि इससे पहले 2019 के लोकसभा चुनावों में इमरान मसूद को कॉन्ग्रेस ने उत्तर प्रदेश की चुनाव समिति का हिस्सा बनाने का निर्णय लिया था। साल 2014 में उन्हें सहारनपुर से प्रत्याशी के तौर पर उतारा था। उस समय मसूद ने सार्वजनिक रैली में घोषणा की थी कि वह ‘नरेंद्र मोदी के टुकड़े-टुकड़े कर देगा’।

इसके अलावा साल 2019 में ही इमरान मसूद अपनी बीवी के साथ समारो में डांस करने के कारण चर्चा में आए थे। उस समय, इमरान की डांस वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मुस्लिम संगठनों और मौलानाओं ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई थी। साथ ही मौलानाओं ने ये भी कहा था कि ये सब इस्लाम के ख़िलाफ़ है इसलिए इमरान को माफी माँगनी चाहिए।

वीडियो में कॉन्ग्रेसी नेता को उड़े जब-जब जुल्फें तेरी पर डांस करते देखा गया था। वीडियो को देखने के बाद इत्तेहाद उलेमा-ए-हिंद के अध्‍यक्ष मौलाना कारी मुस्तफा देहलवी ने मीडिया से हुई अपनी बातचीत में कहा, “इमरान मसूद की पत्‍नी को इस तरह के गानों पर नाचना, खुलेआम बेपर्दा होकर डांस करना जायज नहीं है, यह हराम है और इस्‍लाम इसकी इजाजत नहीं देता है। इस्‍लाम में इसकी मनाही है। इन लोगों को फौरी तौर पर अल्‍लाह से तौबा करनी चाहिए और माफी माँगनी चाहिए, यह बहुत बड़ा जुर्म है।”

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति