Sunday , July 25 2021

बुजुर्ग की पिटाईः लोनी के BJP विधायक ने राहुल गांधी और ओवैसी के खिलाफ थाने में दी तहरीर

गाजियाबाद/लखनऊ।  सोशल मीडिया में वायरल हुए बुजुर्ग की पिटाई के वीडियो को लेकर अब गाजियाबाद की लोनी विधानसभा से भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ एफआईआर कराने के लिए पुलिस को तहरीर दी है.

अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चाओं में रहने वाले लोनी के बीजेपी विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने बुजुर्ग की पिटाई और दाढ़ी काटे जाने के वायरल वीडियो को लेकर लोनी बॉर्डर पुलिस थाने में एक तहरीर दी है. जिसमें उन्होंने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी पर सामाजिक सौहार्द खराब करने के उद्देश्य से ट्वीट करने का आरोप लगाया है.

आपको बता दें कि इससे पहले, यूपी के सीएम योगी ने ट्वीट कर राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए कहा कि प्रभु श्रीराम की पहली सीख है- सत्य बोलना, जो आपने जीवन में कभी किया नहीं. सीएम योगी ने अपने ट्वीट में लिखा- शर्म आनी चाहिए कि पुलिस की ओर से सच्चाई बताए जाने के बाद भी आप समाज में जहर फैलाने में लगे हैं. सत्ता के लालच में मानवता को शर्मसार कर रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता को अपमानित करना, उन्हें बदनाम करना छोड़ दें.

गोरखपुर के बीजेपी सांसद रवि किशन ने भी कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर हमला बोला और कहा कि राहुल का ट्वीट हिंदु-मुस्लिम के बीच दंगे भड़का सकता है. हिंदु-मुस्लिम की राजनीति के बीच आम लोगों को नुकसान होगा.

इसी तरह से यूपी सरकार के मंत्री मोहसिन रजा ने कहा कि यूपी में कानून का राज है और किसी को भी कानून हाथ में नहीं लेने दिया जाएगा. कुछ लोग हैं जो यूपी के सामाजिक सौहार्द को बिगाड़ने चाहते हैं. ये खजूर खाने वाले लोग हैं और ऐसा ही काम करेंगे.

अल्पसंख्यक राज्य मंत्री मोहसिन रजा ने आजतक के साथ बातचीत करते हुए कहा कि किसी को कानून हाथ में नहीं लेने दिया जाएगा. वो चाहे कोई नेता हो या फिर जनप्रतिनिधि. ट्विवर को बार-बार चेतावनी देने के बाद भी जिस तरह से मनमानी कर रहा था. ऐसे में धार्मिक उन्माद फैलाने वाली बात निकलकर सामने आई है, जिससे समाज का सौहार्द खराब होता है. यह बात यूपी में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

बताते चलें कि बुजुर्ग की पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस हरकत में आ गई थी. जांच में पता चला कि बर्बरता का ये वीडियो 5 जून का है. बुलंदशहर के रहने वाले बुजुर्ग अब्दुल समद उस दिन गाजियाबाद के लोनी आए थे. तभी समद के साथ परवेज गुज्जर और उसके साथियों ने जमकर मारपीट की. इस मामले का वीडियो वायरल हो गया. जिसे देखकर लोगों का गुस्सा भड़क गया. लेकिन सोशल मीडिया पर ये वीडियो दूसरे एंगल से वायरल कर दिया गया था. इस मामले को साम्प्रदायिक रंग देने की कोशिश की गई थी. जबकि मामला एक ही समुदाय से जुड़ा है.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति