Sunday , July 25 2021

फेसबुक व गूगल को समन, 29 जून को पेश होने का आदेश: शशि थरूर की अध्यक्षता वाली स्थायी समिति करेगी पूछताछ

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के नए आईटी नियमों को लेकर सोशल मीडिया दिग्गज कंपनी ट्विटर के साथ विवाद जारी है। इस बीच कॉन्ग्रेस नेता शशि थरूर की अध्यक्षता वाली सूचना प्रौद्योगिकी पर संसद की स्थाई समिति ने नागरिकों के अधिकारों की रक्षा और सोशल मीडिया एवं ऑनलाइन समाचार मीडिया प्लेटफॉर्म के दुरुपयोग को रोकने के लिए फेसबुक और गूगल को समन जारी किया है। समिति ने आईटी दिग्गजों को मंगलवार (29 जून 2021) को पेश होने को कहा है।

यह बैठक कल शाम चार बजे होगी। केंद्र सरकार के नए आईटी नियमों के पालन को लेकर सरकार और ट्विटर के बीच जारी विवाद की पृष्ठभूमि में यह बैठक हो रही है। संसद भवन एनेक्सी में समिति के सदस्यों, सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अधिकारियों और फेसबुक एवं गूगल के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में यह बैठक होगी।

गौरतलब है कि केरल के तिरुवंतपुरम से कॉन्ग्रेस सांसद शशि थरूर की अध्यक्षता वाली संसद की स्थायी समिति में 31 सदस्य शामिल हैं, जिनमें 21 लोकसभा और 10 राज्यसभा के सदस्य हैं।

नागिरकों के अधिकारों की रक्षा पर होगी बात

मंगलवार (29 जून 2021) को होने वाली इस बैठक के बारे में बताया गया है कि इसमें डिजिटल न्यूज मीडिया प्लेटफॉर्म के दुरुपयोग और डिजिटल स्पेस में महिला सुरक्षा पर जोर देने को लेकर हो रही है। इस बैठक में समिति दिग्गज आईटी कंपनियों से जानना चाहेगी कि उन्होंने अपने प्लेटफॉर्म के दुरुपयोग को रोकने के लिए क्या कदम उठाए हैं। इसके बाद 6 जुलाई 2021 को समिति की अगली बैठक में आईटी मिनिस्ट्री के प्रतिनिधि कमेटी के सामने इससे जुड़े सबूत रखेंगे। रिपोर्ट के मुताबिक समिति और फेसबुक, गूगल और ट्विटर सहित सोशल मीडिया साइटों के प्रतिनिधियों के बीच दो बैठकें हो चुकी हैं।

केंद्रीय मंत्री के अकाउंट को ट्विटर ने बंद कर दिया था

केंद्र सरकार के साथ जारी खींचतान के बीच पिछले हफ्ते ट्विटर ने केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के अकाउंट को भी बंद कर दिया था। प्रसाद ने कहा था कि उन्हें लगभग एक घंटे तक अपने ट्विटर अकाउंट तक पहुँच से वंचित रखा गया था। वहीं, कॉन्ग्रेस सांसद शशि थरूर ने भी कहा कि कॉपीराइट मुद्दे पर उन्हें भी इसी समस्या का सामना करना पड़ा।

थरूर ने यह भी कहा कि वह अपने और रविशंकर प्रसाद के अकाउंट को कुछ देर के लिए बंद करने के मामले में ट्विटर इंडिया से स्पष्टीकरण माँगेंगे। थरूर ने ट्वीट किया, “सूचना प्रौद्योगिकी पर संसदीय स्थायी समिति के अध्यक्ष के रूप में मैं कह सकता हूँ कि हम ट्विटर इंडिया से आरएस प्रसाद और मेरे खातों को बंद करने और भारत में संचालन के दौरान उनके द्वारा पालन किए जाने वाले नियमों और प्रक्रियाओं के लिए स्पष्टीकरण माँगेंगे।”

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति