Thursday , July 29 2021

उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री होंगे पुष्कर सिंह धामी, राज्यपाल के सामने पेश किया दावा, कल लेंगे शपथ

देहरादून। उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) होंगे. देहरादून में शनिवार को हुई बीजेपी की विधायक दल की बैठक में यह फैसला लिया गया है. तीरथ सिंह रावत के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद कई नाम इस पद के लिए रेस में थे, जिनको पीछे करते हुए पुष्कर सिंह धामी ने बाजी मार ली. पुष्कर सिंह धामी कल (रविवार) सीएम पद की शपथ लेंगे.

विधायक दल की बैठक में नाम का ऐलान होने के बाद पुष्कर सिंह धामी ने राज्यपाल बेबी रानी मौर्य के सामने दावा पेश किया. अब कल शपथग्रहण समारोह होगा. पहले कयास लगाए जा रहे थे कि धामी शनिवार को ही मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं, लेकिन सूत्रों के अनुसार, वे आज शपथ नहीं लेना चाहते हैं.

आरएसएस के करीबी माने जाने वाले पुष्कर सिंह धामी बीजेपी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं. वे दो बार खटीमा से विधायक चुने जा चुके हैं. धामी का जन्म 16 सितंबर, 1975 को पिथौरागढ़ जिले में हुआ था.

बीजेपी के सभी विधायकों की दोपहर तीन बजे बैठक बुलाई गई थी. दिल्ली से पार्टी आलाकमान ने बतौर पर्यवेक्षक केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को देहरादून भेजा था. पुष्कर सिंह धामी के नाम की घोषणा होते ही पिछले कई दिनों से राज्य में चल रहा सियासी संकट भी खत्म हो गया है. यह संकट उस समय शुरू हुआ था, जब केंद्रीय नेतृत्व ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को दिल्ली तलब किया था.

नए सीएम बने पुष्कर सिंह धामी
नए सीएम बने पुष्कर सिंह धामी

दिल्ली में तीरथ रावत ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी. इसके बाद शुक्रवार देर रात उन्होंने उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य से मुलाकात करके इस्तीफा सौंप दिया था. उन्होंने इस्तीफे की वजह संवैधानिक संकट को बताया था.

दरअसल, तीरथ सिंह रावत इसी साल 10 मार्च को मुख्यमंत्री बने थे, जिसकी वजह से उन्हें 10 सितंबर तक किसी भी सूरत में विधायक बनना ही था. चूंकि, कोरोनाकाल की वजह से उप-चुनाव का अभी तक ऐलान नहीं हुआ है, ऐसे में बीजेपी ने मुख्यमंत्री को बदलने का फैसला किया. इसके बाद, तीरथ सिंह रावत की जगह अब पुष्कर सिंह धामी को प्रदेश का नया मुख्यमंत्री बनाया गया है.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति