Sunday , July 25 2021

योगी आदित्यनाथ सरकार ने बसपा के पूर्व सांसद दाउद अहमद के अवैध निर्माण के खिलाफ बड़ा एक्शन लिया

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार अवैध निर्माणों के प्रति शुरू से कड़ा रुख अख्तियार किये हुए हैं। पूरे प्रदेश में एक के बाद एक लगातार अवैध निर्माण के खिलाफ सरकार की कार्रवाई जारी है। इसी क्रम में एलडीए ने बसपा के पूर्व सांसद दाउद अहमद के अवैध निर्माण के खिलाफ बड़ा एक्शन लिया है। लखनऊ विकास प्राधिकरण ने दाऊद अहमद की 100 करोड़ की लागत से बन रही सात मंजिला इमारत जमींदोज कर दी गयी। जानकारी के मुताबिक रिवर बैंक कॉलोनी में यह अवैध निर्माण चल रहा था। लगातार नोटिस के बावजूद दाऊद अहमद ने अवैध निर्माण को नहीं गिरवाया, जिसके बाद यह कार्रवाई की गई।
एलडीए के अधिकारियों के मुताबिक भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने इस निर्माण पर घोर आपत्ति जताई थी, जिसके बाद दाऊद अहमद हाईकोर्ट भी गए थे, लेकिन कोर्ट द्वारा कोई राहत न मिलने और नोटिस के खिलाफ कार्रवाई न होने पर धवस्तीकरण की कार्रवाई शुरू की गई। फ़िलहाल मौके पर लखनऊ जिला प्रशासन की टीम व पुलिस मुस्तैद है। संरक्षित स्मारक रेजीडेंसी के पास प्रतिबंधित क्षेत्र में दाउद अहमद ने यह इमारत खड़ी कर ली थी। भारतीय पुरातत्व विभाग के लगातार विरोध के बावजूद बिल्डिंग का निर्माण नहीं बंद कराया। पूरी बिल्डिंग बनकर तैयार हो गई। पुरातत्व विभाग के साथ मिलकर एलडीए बिल्डिंग गिरवा रहा। पूरी बिल्डिंग ध्वस्त होगी।
शाहाबाद से बसपा के सांसद और हरदोई की पिहानी विधानसभा सीट से विधायक रहे दाउद अहमद को बसपा से निकाल दिया गया था। उन पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने का आरोप लगा था। बसपा हर बार दाउद अहमद पर दांव खेलती थी। लेकिन पिछले एक दशक से वह कोई भी चुनाव जीत नहीं पाए। उनकी पत्नी ने गोला विधानसभा से विधायकी का चुनाव लड़ा था। वह भी हार गई थी। दाउद अहमद 1999 से 2004 तक शाहाबाद के बसपा सांसद रहे। 2007 से 2012 तक पिहानी हरदोई से वह विधायक रहे हैं। 2017 के विधानसभा चुनाव में वह मोहम्मदी से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़े थे, पर हार गए थे।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति