Thursday , July 29 2021

मुझ पर हमला करने वाले अपने ट्वीट के लिए सार्वजनिक तौर पर माफी मांगे सिद्धू: कैप्टन अमरिंदर

नई दिल्ली। पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) के बीच जारी तनातनी खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. पार्टी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह का कहना है कि वह सिद्धू से तब तक नहीं मिलेंगे जब तक कि वह मुझ पर हमला करने वाले अपने ट्वीट के लिए सार्वजनिक तौर पर माफी नहीं मांगते.

कांग्रेस से जुड़े सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कह दिया है कि नवजोत सिंह सिद्धू के साथ किसी भी तरह की कोई बैठक तब तक नहीं हो सकती जब तक वह सार्वजनिक तौर पर माफी नहीं मांग लेते. सिद्धू ट्विटर के जरिए मुख्यमंत्री पर जमकर हमला कर चुके हैं और वह इसके लिए कैप्टन माफी मंगवाना चाहते हैं.

हालांकि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर ने कहा, ‘सोनिया गांधी का जो भी फैसला होगा, मैं उसे स्वीकार करूंगा.’ इस बीच कांग्रेस सूत्र के हवाले से खबर है कि सिद्धू को अध्यक्ष बनाने के अलावा 4 कार्यकारी अध्यक्षों को नियुक्त किया जाएगा.

मुलाकात के बाद हरीश रावत का ट्वीट

इस बीच पार्टी के पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने ट्वीट कर कहा, ‘मैं, कैप्टन अमरिंदर सिंह से मिलकर अभी-अभी दिल्ली लौटा हूं. मुझे प्रसन्नता है कि बहुत सारी बातें जो बाहर चर्चा में हैं, वो बिल्कुल निर्मूल साबित हुई हैं और कैप्टन साहब ने फिर से अपने उस महत्वपूर्ण बयान को दोहराया है. जिसमें उन्होंने कहा है कि माननीय कांग्रेस अध्यक्ष, पंजाब के विषय में अध्यक्ष के पद को लेकर के जो भी निर्णय करेंगी वो निर्णय मुझे स्वीकार्य होगा, मैं उसका आदर करूंगा.’

कांग्रेस ने अभी पत्ते नहीं खोले

दूसरी ओर, नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) को पंजाब प्रदेश कांग्रेस (Punjab Congress) का अध्यक्ष बनाने को लेकर पार्टी अभी पत्ते नहीं खोल रही है. हालांकि इससे पहले ही लुधियाना में स्थित सिद्धू के घर पर जश्न का माहौल है. सिद्धू के समर्थक मिठाइयां बांट रहे और जश्न मना रहे हैं. जबकि अभी तक सिद्धू को लेकर किसी तरह का कोई ऐलान नहीं किया गया है.

इस बीच, सिद्धू को बधाई देते हुए कई पोस्टर भी लगा दिए गए हैं, लेकिन उसमें से मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की तस्वीर गायब है. चंडीगढ़ में भी कांग्रेस दफ्तर के बाहर भी सिद्धू के समर्थक जश्न मनाने पहुंच गए, जहां ढोल-नगाड़ों के साथ ऐलान का इंतजार किया जा रहा है.

कैप्टन अमरिंदर ने जताई नाराजगी

इससे पहले मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक दिन पहले सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखकर नाराजगी जाहिर की. उन्होंने कहा कि कांग्रेस आलाकमान जबरदस्ती पंजाब सरकार और पंजाब की राजनीति में दखल दे रही है. आलाकमान को समझना चाहिए कि राज्य में हालात इतने अनुकूल नहीं हैं और इसका नुकसान पार्टी और सरकार दोनों को उठाना पड़ सकता है.

हुआ यूं कि नवजोत सिंह सिद्धू शुक्रवार सुबह कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने पहुंचे थे. वहीं शाम होते-होते पटियाला स्थिति सिद्धू के आवास पर समर्थकों का तांता लगने लगा. समर्थक उनकी पत्नी नवजोत कौर सिद्धू को गुलदस्ते भेंट करने लगे. ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं सिद्धू को पंजाब कांग्रेस की कमान दी जा सकती है.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति