Friday , September 24 2021

ओलंपिक: गोल्ड जीतने के बाद नीरज चोपड़ा ने PM मोदी से की खास डिमांड, जानें क्या कहा

टोक्यो ओलंपिक में भाला फेंक में स्वर्ण पदक जीतने वाले नीरज चोपड़ा ने कहा कि मेरे खेल जीवन का यह सबसे बड़ा दिन है. मैंने अपने और देश के लिए एथलेटिक्स में स्वर्ण पदक जीता है तो यह बहुत बड़ी बात है. स्वर्ण जीतने पर पीएम मोदी ने जब बधाई देने के लिए चैंपियन खिलाड़ी को फोन किया तो उन्होंने प्रधानमंत्री से एक स्पेशल मांग भी कर डाली.

आजतक के साथ खास बातचीत में नीरज चोपड़ा ने कहा कि कि बस अभी थोड़ा मुश्किल सा लग रहा है. अभी कुछ खास नहीं लग रहा लेकिन लगता है कि भारत आने के बाद पता लगेगा. हालांकि यह जरूर है कि जो मेहनत की थी यह उसका परिणाम है. ओलंपिक से बड़ा कुछ नहीं हो सकता.

आपके लिए स्वर्ण पदक क्या है? इस सवाल पर नीरज चोपड़ा ने कहा, ‘मुझे लगता है कि मेरे खेल जीवन का यह सबसे बड़ा दिन है. अपने और देश के लिए एथलेटिक्स में स्वर्ण पदक जीता है तो यह बहुत बड़ी बात है मेरे लिए.’

अपने दूसरे प्रयास में 87.58 मीटर निकालने के बाद क्या सोच रहे थे कि गोल्ड पक्का हो गया या कुछ और चल रहा था, इस पर नीरज चोपड़ा ने कहा, ‘नहीं, ऐसा नहीं हैं. बाकी जो थ्रोअर थे वो भी काफी अच्छा कर रहे थे. दूसरे और तीसरे नंबर पर जो थ्रोअर रहे हैं वो भी 88-89 मीटर तक फेंक चुके हैं. मुझे लगता था कि वो कभी भी ऐसा थ्रो निकाल सकते हैं. हालांकि मेरे दिमाग में यह था कि मुझे अपने खेल पर फोकस करना है और अच्छा थ्रो करना है.’

PM मोदी ने क्या कहा

पीएम नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री ने क्या कहा, इस पर नीरज चोपड़ा ने कहा, ‘उन्होंने कहा आज अपने प्रदर्शन से भारत को बहुत खुश कर दिया है. आप के इस गोल्ड के बाद अन्य खिलाड़ियों को मोटिवेशन मिलेगा. अन्य लोग भी खेल में आएंगे.’

बातचीत के दौरान आपने पीएम से क्या कहा, नीरज ने बताया, ‘मैंने उनसे अनुरोध किया कि ओलंपिक में जो गेम्स हैं उनको ज्यादा सपोर्ट किया जाए. हमारे देश में बहुत टेलेंट है. खेल को जिस तरह से आगे बढ़ाया जा सके उसके लिए पूरा सपोर्ट करें. अन्य खेलों को बढ़ावा दिया जाए जिससे ओलंपिक में और पदक जीते जा सकें.’

अंतिम थ्रो से पहले क्या सोच रहे थे, इस पर नीरज ने कहा, ‘उस समय मैं बहुत उत्साहित हो गया था. ऐसा लग रहा था कि पता नहीं क्या होगा. फिर भी मैंने बहुत कोशिश की कि ओलंपिक रिकॉर्ड तोड़ दूं. खासतौर से अपना बेस्ट करने की कोशिश कर ही रहा था. 90 मीटर से ज्यादा फेंक पाता तो मुझे बहुत खुशी होती.’

जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने कल शनिवार को टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रच दिया. नीरज ने ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीता है. उन्होंने शनिवार को भाला फेंक के फाइनल में 87.58 मीटर का थ्रो करके गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाया.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति