Friday , September 24 2021

‘श्रीजेश के सम्मान में केरल सरकार को 1 दिन भी बर्बाद नहीं करना चाहिए’ – पूर्व ओलंपिक खिलाड़ी ने दिखाया आईना

टोक्यो में हुए ओलंपिक खेलों में भारतीय हॉकी टीम ने ब्रॉन्ज मेडल जीतकर देश का मान बढ़ाया। लेकिन कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय टीम के गोलकीपर पीआर श्रीजेश के लिए केरल की वामपंथी सरकार ने कोई भी घोषणा नहीं की। केरल की एलडीएफ सरकार के इस कदम का कड़ा विरोध किया जा रहा है। सोशल मीडिया पर लोग सवाल उठा रहे हैं।

दरअसल, भारतीय हॉकी टीम ने 41 साल में पहली बार ओलंपिक में कोई मेडल जीता। इसके पाँच दिन बीत चुके हैं, बावजूद मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन के नेतृत्व वाली सत्तारूढ़ वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) सरकार इस मुद्दे पर चुप्पी साधे हुए है। श्रीजेश को ओलंपिक में उनके दमदार प्रदर्शन के बावजूद नकद प्रोत्साहन से सम्मानित नहीं किया गया। खास बात यह है कि 33 वर्षीय श्रीजेश सामान्य और उच्च शिक्षा विभाग के कर्मचारी हैं।

गोलकीपर श्रीजेश केरल अर्नाकुलम जिले के पलिक्करा के रहने वाले हैं। हालाँकि, श्रीजेश मंगलवार (10 अगस्त 2021) की शाम को 5 बजे कोचीन एयरपोर्ट पर पहुँचेंगे, जहाँ कोचीन इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड में उनका स्वागत किया जाएगा। इस दौरान खेल मंत्री वी अब्दुर्रहमान भी उपस्थित रहेंगे।

दूसरे राज्यों ने की धनवर्षा

केरल के उलट पंजाब और हरियाणा जैसे राज्यों ने अपने यहाँ के ओलंपिक पदक विजेताओं को सरकारी नौकरी, पदोन्नति और भारी नकद पुरस्कार की पेशकश की है। सामान्य भावना यह है कि केरल सरकार ने श्रीजेश को निराश किया है, जो मैनुअल फ्रेडरिक्स के बाद पदक जीतने वाले केवल दूसरे केरलवासी हैं।

हरियाणा सरकार ने पुरुषों की भाला फेंक में ऐतिहासिक स्वर्ण पदक जीतने वाले नीरज चोपड़ा को 6 करोड़ रुपए का नकद इनाम देने की घोषणा की है। इस बीच, पंजाब सरकार ने ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली टीम का हिस्सा रहे प्रत्येक खिलाड़ी को एक करोड़ रुपए का नकद पुरस्कार देने का एलान किया है। इसके अलावा पंजाब सरकार ने नीरज चोपड़ा के लिए भी नकद पुरस्कार की घोषणा की है।

मध्य प्रदेश सरकार ने हॉकी स्टार विवेक सागर और मध्य प्रदेश हॉकी अकादमी के पूर्व छात्र नीलकांत शर्मा को एक करोड़ रुपए और चौथे स्थान पर रही महिला हॉकी टीम के प्रत्येक सदस्य को 31 लाख रुपए देने का फैसला किया है।

वहीं टोक्यो ओलंपिक में अपने ऐतिहासिक रजत पदक के बाद भारोत्तोलक साइखोम मीराबाई चानू को जल्द ही मणिपुर सरकार द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (खेल) के रूप में नियुक्ति देगी। इसके अलावा चानू को एक करोड़ रुपए का इनाम भी दिया जाएगा।

जब इतने सारे राज्य बढ़-चढ़ कर विजेता खिलाड़ियों के लिए घोषणा कर रहे हैं, केरल सरकार ने श्रीजेश की उपलब्धियों को नज़रअंदाज़ कर दिया। इसी बीच यूएई स्थित वीपीएस हेल्थकेयर के अध्यक्ष और एमडी डॉ. शमशीर वायलिल ने उन्हें 1 करोड़ रुपए के नकद पुरस्कार की घोषणा की।

केरल सरकार की उदासीनता पर पूर्व ओलंपियन टीसी योहन्नान ने कहा, “श्रीजेश ने केरल को गौरवान्वित किया है, इसलिए वो बेहतर स्वागत के हकदार हैं। उन्होंने वर्षों तक जो कड़ी मेहनत की है, उसे देखते हुए उन्हें सम्मानित करने में राज्य सरकार को एक दिन भी बर्बाद नहीं करना चाहिए। सरकार के पास अभी भी कुछ करने का वक्त है। ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाले नीरज चोपड़ा को सम्मानित करने के लिए आम जनता से दान लेने के लिए सरकार को एक फंड बनाना चाहिए।”

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति