Tuesday , September 28 2021

माहवारी पर खुलकर नहीं होती बात, इस कारण महिलाओं के स्वास्थ्य पर पड़ता बुरा असर : स्वाती सिंह

महिला कल्याण एवं बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) ने माहवारी स्वच्छता प्रबंधन कार्यक्रम का किया उद्घाटन

लखनऊ। महिला कल्याण एवं बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वाती सिंह ने टाटा वॉटर मिशन द्वारा उत्तर प्रदेश के जनपद लखनऊ के सरोजिनी नगर ब्लाक में संचालित होने वाले माहवारी स्वच्छता प्रबंधन कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया। इस अवसर पर 100 से अधिक अजीविका मिशन से जुड़ी स्वयं सहायता समूह एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने प्रतिभाग किया।

स्वाती सिंह ने कहा कि माहवारी विषय पर समाज में खुलकर बातचीत नहीं की जाती है और इस विषय को सिर्फ महिलाओं से संबंधित विषय ही माना जाता है। इसकी वजह से महिलाओं के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। साथ ही माहवारी के दौरान सही उत्पादों की जानकारी न होने के कारण वे गलत उत्पादों का चयन करती हैं, जो उनके शारीरिक एवं पर्यावरण की दृष्टि से प्रतिकूल प्रभाव डालता है। आज भी 52 प्रतिशत महिलाओं को माहवारी शुरू होने से पहले उसकी जानकारी नहीं होती है।
उन्होंने कहा कि महिलाएं माहवारी से जुड़े मिथकों को बिना सोचे उसका पालन करती रहती हैं, जो उनके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालती है। स्वाती सिंह ने कहा कि सरोजनी नगर की सभी महिलाएं अपने घर में लाल रंग की बूंद बनायेंगी, जो कि माहवारी का प्रतीक है और सभी का अस्तित्व है। मंत्री ने आई0सी0डी0एस0 विभाग में ड्राप ऑउट किशोरियों के साथ ये कार्यक्रम और रियूसेबल क्लाथ पैड विभाग द्वारा किशोरियों तक पहुंचाने का प्रस्ताव रखा है।

उन्होंने कहा कि टाटा वॉटर मिशन के सहयोग से स्वंय सहायता समूह की महिलाओं को स्वावलंबन एवं अजीविका के अवसर उपलब्ध कराये जाने के उद्देश्य से स्थापित की गई क्लाथ पैड स्टिचिंग इकाई का उद्घाटन किया और इससे जुड़ी महिलाओं की प्रशंसा करते हुए प्रेरित करते हुए कहा कि आप लोग समाज के लिए बहुमूल्य सहयोग कर रहे हैं और कम लागत वाले, बार-बार उपयोग होने वाले क्लाथ पैड उपलब्ध करा कर अपने लिए स्वरोजगर के अवसर उत्पन्न कर रहे हैं।
टाटा ट्रस्ट्स की पल्लवी गौतम ने बताया कि टाटा वॉटर मिशन के अंतर्गत माहवारी स्वच्छता प्रबंधन कार्यक्रम ‘‘अस्तित्व एक पहचान‘‘ परियोजना के अंतर्गत जनपद लखनऊ के सरोजिनी नगर ब्लाक में 4000 किशोरियों और महिलाओं को माहवारी स्वास्थ्य स्वच्छता एवं प्रबंधन के बारे में जागरूक किया जायेगा। यह कार्यक्रम माहवारी से जुड़े मिथकों, गलत मान्यताओं एवं धारणाओं के बारे में समाज को जागरूक करेगा और माहवारी से जुड़े स्वच्छता एवं प्रबंधन संबंधी सकारात्मक व्यवहारों को अपनाने के लिए प्रेरित करेगा।
टाटा ट्रस्ट्स से डाक्टर अमिता जैन द्वारा बताया गया कि यह कार्यक्रम जनपद बहराइच और श्रावस्ती में वर्ष 2019 से चलाया जा रहा हैं, जिसमें अभी तक 26,000 किशोरियों, महिलाओं, किशोर युवाओं एवं पुरूषों को जागरूक किया जा चुका है। टाटा वॉटर मिशन उत्तर प्रदेश सहित आठ राज्यों में माहवारी स्वच्छता कार्यक्रम चलाया जा रहा है, जिसके माध्यम से महिलाओं एवं किशोरियों के लिए एक अनुकूल वातावरण तैयार किया जा रहा है जिससे वे बिना किसी भय के सम्मान के साथ माहवारी प्रबंधन कर सकें।

इस कार्यक्रम के अवसर पर टाटा ट्रस्टस से जोनल मैनेजर श्री शारदा गौतम, टाटा पावरलिंक से अर्जुन तोमर, जिला कार्यक्रम अधिकारी अखिलेन्द्र दूबे, अजीविका मिशन से आदिल अब्बास आदि लोग उपस्थित रहे।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति