Tuesday , August 16 2022

आयकर विभाग की ताबड़तोड़ रेड से अखिलेश यादव हुए आगबबूला, योगी सरकार पर साधा निशाना

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के करीबी नेताओं के खिलाफ आयकर विभाग की कार्रवाई (IT Raid) जारी है. अभी तक मिली जानकारी के अनुसार, सपा (SP) के तीन बड़े नेताओं के ठिकानों पर रेड की जा रही है. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मऊ (Mau) में सपा के राष्ट्रीय सचिव राजीव राय (Rajiv Rai), लखनऊ (Lucknow) में जैनेंद्र यादव (Jainendra Yadav) और मैनपुरी (Mainpuri) में मनोज यादव (Manoj Yadav) के ठिकानों पर आयकर विभाग (IT Department) की टीम छापेमारी कर रही है.

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि अभी तो सिर्फ आईटी विभाग दिल्ली से आया है. जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आएगा ईडी और बाकी एजेंसियां भी आएंगी. चुनाव से पहले ही छापेमारी क्यों हो रही है? आईटी डिपार्टमेंट भी यूपी में चुनाव लड़ने आया है. कोई भी इस सरकार में सुरक्षित नहीं है. आजम खान के खिलाफ भी ऐसे ही कार्रवाई की गई. बीजेपी, कांग्रेस के रास्ते पर चल रही है. कुछ भी हो लेकिन साइकिल की रफ्तार कम नहीं होगी.

यूपी के मऊ में राजीव राय के घर पर इनकम टैक्स की रेड सुबह 7 बजे से जारी है. इस छापेमारी के खिलाफ समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने हंगामा शुरू कर दिया है. राजीव राय का आरोप है कि लोगों की मदद करना बीजेपी को पंसद नहीं आया है इसलिए उनके खिलाफ ये कार्रवाई हो रही है. सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के बेहद करीबी और आरसीएल ग्रुप के मालिक मनोज यादव के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी चल रही है. आयकर विभाग के अधिकारी 12 गाड़ियों के काफिले के साथ मनोज यादव के घर पहुंचे.

बता दें कि सपा के राष्ट्रीय सचिव राजीव राय के घर के बाहर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात है. आयकर विभाग की इस कार्रवाई से समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता बौखला गए हैं, उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया है. वाराणसी की आयकर विभाग की टीम मऊ पहुंची है. जान लें कि सुबह 7 बजे से इनकम टैक्स की टीम ने राजीव राय को उनके घर में नजरबंद कर रखा है. ये मामला शहर कोतवाली सहादतपुरा का है. राजीव राय मऊ से लोक सभा का चुनाव लड़ चुके हैं.

राजीव राय ने कहा कि मेरा कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है. मेरे पास कोई अवैध पैसा नहीं है. मेरा लोगों की मदद करना बीजेपी को खल गया. उन्होंने सपा कार्यकर्ताओं से कहा कि कुछ भी ना करो. वीडियो रिकॉर्डिंग हो जाएगी और फिर थाने से एफआईआर होगी इसलिए रेड होने दो.

गौरतलब है कि आयकर विभाग ने अभी तक इस मामले में कोई बयान रिकॉर्ड नहीं किया है. लेकिन राजीव राय के घर के बाहर मौजूद समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता आरोप लगा रहे हैं कि चुनाव से पहले बदले की कार्रवाई की जा रही है. सरकार के खिलाफ आवाज उठाने के कारण ये छापेमारी हो रही है.

सपा नेताओं के घर इनकम टैक्स के छापे, अखिलेश बोले- अभी तो ED और CBI भी आएगी

समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने लखनऊ औऱ मऊ में सपा नेताओं पर शनिवार को हुई छापेमार पर रायबरेली में कहा कि चुनाव से पहले यह सब जानबूझकर किया गया है. ये सब पहले भी हो सकता था, लेकिन चुनाव से पहले यह कार्रवाई बताती है कि बीजेपी सरकार भेदभाव से काम करती है. इस बात को उत्तरप्रदेश की जनता अब समझ चुकी है.

बता दें कि शनिवार को मऊ के समाजवादी पार्टी प्रवक्ता राजीव राय, लखनऊ के जैनेंद्र यादव और मैनपुरी के मनोज यादव के घर शनिवार की सुबह इनकम टैक्स विभाग ने छापा मारा. इस पर अखिलेश यादव ने कहा कि राजीव राय पार्टी के प्रवक्ता हैं और वह इनकम टैक्स दाखिल करते रहे हैं, अगर कोई पहले दिक्कत रही होगी तो जांच पहले क्यों नहीं हुई. जब रिटर्न भरा था. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र और बंगाल में किस तरह केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग किया गया. ये सब जानते हैं. बता दें कि जैनेन्द्र यादव उर्फ नीटू अखिलेश यादव के ओएसडी (OSD) हैं.

सपा सुप्रीमो ने कहा कि बीजेपी कह रही थी कि हम रामराज्य लाएंगे. लेकिन जो समाजवाद का रास्ता है, वही रामराज्य लाएगा. अगर समाजवाद आ जाए तो वही राम राज्य है. अखिलेश ने कहा कि बिना समाजवाद आए रामराज्य नहीं आ सकता. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी सरकार भेदभाव से काम करती है. इस सरकार के कार्यकाल में किसानों का लगातार अपमान हुआ है. किसान आंदोलन को लगातार कुचलने की कोशिश की. यूपी की जनता बदलाव को तैयार है.

वाराणसी में सीएम योगी के गंगा में डुबकी नहीं लगाने पर अखिलेश यादव ने तंज कसते हुए कहा कि हमारे सीएम को पता है कि मां गंगा की सफाई नहीं हुई है. इसलिए उन्होंने डुबकी नहीं लगाई. उन्होंने कहा कि सीएम जानते हैं कि यमुना औऱ गोमती का गंदा पानी गंगा में जा रहा है.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.