Sunday , April 14 2024

पिछले छह महीने में 18 मैचों में चार खिलाड़ियों ने संभाली टीम इंडिया की कमान, सिर्फ रोहित शर्मा ही दिला पाए भारत को जीत, देखें लिस्ट

साल 2022 में टीम इंडिया टीम इंडिया टेस्ट, टी-20 और वनडे मिलाकर कुल 18 मैच खेली है। पिछले छह महीने में टीम ने चार टेस्ट, छह वनडे और आठ टी-20 मैच खेले हैं। इस दौरान विराट कोहली, रोहित शर्मा, केएल राहुल और ऋषभ पंत ने टीम की कमान संभाली है। रोहित को छोड़कर बाकी तीनों को हार का सामना करना पड़ा है।

साल 2022 में टीम इंडिया ने सबसे पहले साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का दूसरा मैच खेला था। विराट कोहली के चोटिल होने के कारण केएल राहुल कप्तान थे। टीम इस मैच में 7 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। अगले टेस्ट मैच में विराट कोहली की वापसी हुई, लेकिन नतीजा नहीं बदला। टीम इंडिया को फिर 7 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। टीम 2-1 से सीरीज हार गई। विराट कोहली ने इसके बाद टेस्ट से भी कप्तानी छोड़ दी।

जनवरी में ही अफ्रीका दौरे पर वनडे सीरीज में रोहित शर्मा की अनुपस्थिति में केएल राहुल टीम इंडिया की कमान संभाल रहे थे। तीन मैचों की सीरीज में मेन इन ब्लू का क्लीन स्वीप हुआ। 3-0 से सीरीज हारकर टीम भारत लौटी और फरवरी में रोहित शर्मा की अगुवाई में वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले तीन वनडे मैच की सीरीज को 3-0 से और फिर टी-20 सीरीज को 3-0 से अपने नाम किया।

फरवरी के अंत में श्रीलंका टीम तीन टी-20 और दो टेस्ट मैच की सीरीज खेलने आई। रोहित शर्मा की कप्तानी में टीम इंडिया ने कमाल का प्रदर्शन किया। पहले टी-20 सीरीज को 3-0 से अपने नाम किया। इसके बाद टेस्ट सीरीज को 2-0 से अपने नाम किया। फिर आया आईपीएल 2022। खिलाड़ी दो महीने इसमें वयस्त रहे।

जून में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच मैचों की टी-20 सीरीज से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भारतीय खिलाड़ियों की वापसी हुई। रोहित शर्मा, विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी जैसे खिलाड़ियों को आराम दिया गया। केएल राहुल को टीम की कमान सौंपी गई। उनके चोटिल होने के कारण ऋषभ पंत को कप्तानी का मौका मिला। टीम इस सीरीज में 2-0 से पीछे चल रही है। दिल्ली के बाद कटक में भी उसे हार का सामना करना पड़ा। इस दौरान टीम इंडिया लगातार 13 टी-20 मैच जीतने का रिकॉर्ड बनाने से भी चूकी।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch