Tuesday , August 16 2022

महाराष्ट्र में सियासी संकट के बीच केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, 15 बागी विधायकों को दी Y+ कैटेगरी की सुरक्षा

महाराष्ट्र में जारी पॉलिटिकल फाइट के बीच केंद्र सरकार ने शिवसेना के 15 बागी विधायकों को वाई प्लस कैटेगरी की सुरक्षा दी है. अब इन्हें CRPF की सिक्योरिटी मुहैया कराई गई है. गुवाहाटी में मौजूद शिवसेना के बागी विधायकों ने महाराष्ट्र में मौजूद अपने परिवार की सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की थी. बागी विधायकों का आरोप था कि उनके परिवार की सुरक्षा को वापस ले लिया गया है. उधर, बागी गुट के नेता एकनाथ शिंदे ने भी कहा था कि अगर बागी विधायकों के परिवार को कुछ होता है इसके लिए उद्धव और आदित्य ठाकरे जिम्मेदार होंगे.

बवाल के बाद बागी विधायकों के घर के बाहर पुलिस तैनात

बागी विधायकों के दफ्तरों के बाहर शिवसैनिकों के हंगामे और तोड़फोड़ की घटना के बाद बागी गुट के नेता एकनाथ शिंदे के घर के बाहर भी पुलिस बल को तैनात किया गया है.

इन 15 बागी विधायकों को दी गई है वाई प्लस सुरक्षा

  • रमेश बोर्नारे
  • मंगेश कुडलकर
  • संजय शिरसात
  • लताबाई सोनवणे
  • प्रकाश सुर्वे
  • सदानंद सरनवंकर
  • योगेश दादा कदम
  • प्रताप सरनाइक
  • यामिनी जाधव
  • प्रदीप जायसवाल
  • संजय राठौड
  • दादाजी भुसे
  • दिलीप लांडे
  • बालाजी कल्याणर
  • संदीपन भुमरे

सुरक्षा को लेकर केंद्र सरकार की क्या होती है भूमिका

केंद्र सरकार केंद्रीय स्तर पर सुरक्षा संभालती है. प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस जैसे सरकारी पदों पर तैनात बड़े अफसरों को केंद्र सरकार सुरक्षा मुहैया कराती है. इनके अलावा केंद्र सरकार उन लोगों को भी सुरक्षा प्रदान करवाती है, जिनकी जान को खतरा होता है. इसमें समाज में ऊंचा रुतबा रखने वाले लोग होते हैं. केंद्र सरकार ने सुरक्षा के लिए पांच कैटेगरी बना रखी है. इसमें X, Y, Y+, Z और Z+ शामिल है. खतरे के हिसाब से व्यक्ति को सुरक्षा मिलती है.

बता दें कि Y कैटेगरी में 11 सुरक्षाकर्मी तैनात होते हैं. इसमें एक या दो कमांडो और दो पीएसओ भी शामिल होते हैं. वहीं, Y+ कैटेगरी में 11 सुरक्षाकर्मियों के अलावा एस्कॉर्ट वाहन भी रहता है. एक गार्ड कमांडर और चार गार्ड आवास पर भी तैनात होते हैं.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.