Tuesday , August 16 2022

उदयपुर में इंटरनेट बंद, रिपोर्ट्स में दावा- धमकियों के बाद कन्हैया लाल ने माँगी थी सुरक्षा, राजस्थान पुलिस ने इग्नोर किया

राजस्थान के उदयपुर में मंगलवार (28 जून, 2022) को नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर करने के कारण टेलर कन्हैयालाल की गला रेतकर हत्या कर दी गई है। वहीं अब इस मामले में यह बात सामने आ रही है कि दुकानदार के 8 वर्षीय बेटे ने गलती से मोबाइल पर पोस्ट शेयर कर दिया था। जबकि हत्यारों ने वारदात को अंजाम देने के बाद एक वीडियो जारी करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी और नूपुर शर्मा की हत्या करने तक की धमकी दे डाली है।

रिपोर्ट के अनुसार, कन्हैयालाल का गला रेतने के दोनों आरोपितों को राजसमंद जिले के भीमा इलाके से गिरफ्तार कर लिया गया है। हालाँकि, चौंकाने वाली बात यह है कि 17 जून को ही आरोपितों ने इस बात का ऐलान कर दिया था कि वह कन्हैयालाल की हत्या कर देंगे। उन्होंने बकायदा इसका वीडियो भी जारी किया था, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था। ऐसे में राजस्थान पुलिस भी सवालों के घेरे में आ गई है।

बता दें कि ये वारदात उदयपुर के धानमंडी थाना क्षेत्र में हुई। जहाँ मृतक कन्हैया लाल टेलरिंग की दुकान चलाते थे। वीडियो में दिख रहे हत्यारे उनकी दुकान पर कपड़े सिलवाने के बहाने आए और गर्दन काटकर उनकी हत्या कर दी। इतना ही नहीं हत्यारों ने इस जघन्य वारदात का वीडियो भी बनाया और उसे वायरल कर दिया है।

वीडियो में हत्यारे तलवार पर खून और चेहरे पर हँसी के साथ कहते हैं, ”मैं मोहम्मद रियाज अंसारी और ये हमारे गौस मोहम्मद भाई, उदयपुर के अंदर जो माता स्टेट वाला है उसका सर कलम कर दिया है।” आगे मजहबी नारा लगाते हुए कहता है, ”हम जिएँगे आपके लिए और मरेंगे आपके लिए।”

हमलवार आगे पीएम मोदी की गर्दन काटने और नूपुर शर्मा को धमकी देते हुए कहता है, ”ये नरेंद्र मोदी सुन ले, आग तूने लगाई है और बुझाएँगे हम, इंसाअल्लाह मैं रब से दुआ करता हूँ कि यह छुरा तेरी गर्दन तक भी जरूर पहुँचेगा। और उस कुति** तक भी पहुँचेगा। उदयपुर वालों नारा लगाओ गुस्ताखे नबी की एक ही सजा, सर तन से जुदा। दुआओं में याद रखना।”

टेलर कन्हैयालाल की सिर कलम कर हत्या किए जाने के बाद इलाके में भारी तनाव का माहौल है। हालात पर काबू पाने के लिए उदयपुर जिले में 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद करने के साथ ही भारी पुलिस बल मौके पर तैनात कर दिया गया है। पुलिस की ओर से पूरे राजस्थान में अलर्ट जारी किया गया है। वहीं घटना पर रोष जताते हुए स्थानीय लोग अपनी दुकानें बंद कर सड़कों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उदयपुर में हुए इस जघन्य हत्याकांड पर कहा कि यह बहुत ही दुखद घटना है। यह कोई छोटी घटना नहीं है, जो हुआ वह किसी की कल्पना से परे है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

अशोक गहलोत ने घटना को लेकर दो ट्वीट कर कहा, ”उदयपुर में युवक की जघन्य हत्या की भर्त्सना करता हूँ। इस घटना में शामिल सभी अपराधियों कठोर कार्रवाई की जाएगी एवं पुलिस अपराध की पूरी तह तक जाएगी। मैं सभी पक्षों से शान्ति बनाए रखने की अपील करता हूँ। ऐसे जघन्य अपराध में लिप्त हर व्यक्ति को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी।”

उन्होंने आगे कहा, “मैं सभी से अपील करता हूँ कि इस घटना का वीडियो शेयर कर माहौल खराब करने का प्रयास ना करें। वीडियो शेयर करने से अपराधी का समाज में घृणा फैलाने का उद्देश्य सफल होगा।”

साथ ही राजस्थान के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) ने बताया कि उदयपुर हत्याकांड पर पुलिस बलों की गतिशीलता बढ़ाने और अधिकारियों को जमीन पर बनाए रखने के लिए सभी एसपी और आईजी को राज्यव्यापी अलर्ट जारी किया गया है। हम आगे के निर्णय लेने के लिए कानून व्यवस्था की स्थिति का आकलन कर रहे हैं।

वहीं, विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया ने उदयपुर हत्याकांड पर बोलते हुए कहा, “हमने सीएम से बात की है। इसमें शामिल लोगों को गिरफ्तार किया जाए और पीड़ित परिवार को सहायता दी जाए। यह घटना एक व्यक्ति के कारण संभव नहीं है, यह किसी संगठन के कारण हो सकता है। यह भयावह और प्रशासन की विफलता है।”

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.