Tuesday , June 25 2024

‘उदयपुर घटना के लिए नुपुर शर्मा जिम्‍मेदार नहीं, मांफी क्‍यों मांगे’, डच सांसद का ट्वीट वायरल

उदयपुर घटना को लेकर पूरे देश में रोष है । बीजेपी से निलंबित नेता नुपुर शर्मा के एक बयान के बाद देश भर में मचे बवाल के बीच हुई इस हत्‍या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपना पक्ष रखा है । सवोच्‍च अदालत ने इसके लिए नुपुर शर्मा को कड़ी फटकार लगाई है । दरअसल खुद नुपुर ने ही खुद पर अलग-अलग राज्‍यों में दर्ज हुई एफआई मामले में सुप्रीम कोर्ट में राहत के लिए अर्जी लगाई थी । वो चाहती थीं कि ये सारे केस दिल्‍ली ट्रांसफर हो जाएं । लेकिन इस मामले में उलटा कोर्ट ने उन्‍हें ही फटकार दिया । कोर्ट ने उनसे याचिका वापस लेने को कहा है साथ ही ये भी कहा है कि देश मेंये जो हालात बने हैं उसके लिए वो ही जिम्‍मेदार हैं  ।

आदेश का विरोध

आपको बता दें सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश कादेश के कई हिस्‍सों में विरोध हो रहा है । नुपुर के समर्थकों का कहना है कि ये तो वहीं बात हो गई कि बलात्‍कार के लिए लड़की को ही जिम्‍मेदार ठहराओं कि उसने कुछ ऐसे ही कपड़े पहने होंगे । नुपुर के समर्थक ये मानने को तैयार नहीं है कि गलती नुपुर की है । दरअसल एक डिबेट शो के दौरान नुपुर शर्मा ने दूसरे पक्ष के तर्क का जवाब देते हुए ऐसी भाषा का प्रयोग कर दिया जो मुस्लिम समुदाय को नागवार गुजरा । बहरहाल, इस मामले में खूब बवाल हुआ, नुपुर को निलंबित भी कर दिया गया । लेकिन अब उदयपुर में कन्‍हैया लाल की हत्‍या ने इस मामले को और तूल दे दिया है ।

डच सांसद का भी साथ

वहीं नुपुर शर्मा के समर्थकों में एक नाम डच सांसद गीर्ट वाइल्‍डर का भी है । गीर्ट के मुताबिक नुपुर शर्मा ने ऐसा कुछ नहीं किया है कि वो माफी मांगे । गीर्ट ने ट्वीट किया है- मुझे लगा कि भारत में शरिया अदालतें नहीं हैं। #मुहम्मद के बारे में सच बोलने के लिए उन्हें कभी माफी नहीं मांगनी चाहिए। वह उदयपुर के लिए जिम्मेदार नहीं है। कट्टरपंथी असहिष्णु जिहादी मुसलमान जिम्मेदार हैं और कोई नहीं। नुपुर शर्मा एक हीरो हैं।

गीर्ट की भारत को सलाह
कुछ दिन पहले ही डच सांसद गीर्ट विल्डर्स ने उदयपुर को लेकर ट्वीट कर कहा कि भारत को मेरी सलाह है कि उसे असहिष्णु लोगों के प्रति सहिष्णु बनना बंद करना होगा । मामले पर अब गीर्ट ने ट्वीट कर कहा है, भारत, एक दोस्त होने के नाते, मैं आपसे कहता हूं कि असहिष्णु के प्रति सहिष्णु होना बंद करें । चरमपंथियों, आतंकियों और जिहादियों से हिंदुत्व की रक्षा करें । इस्लाम का तुष्टिकरण नहीं करें, यह आपको बहुत महंगा पड़ेगा । हिंदुओं को ऐसे नेता चाहिए जो उनकी 100 फीसदी रक्षा कर सकें । नीदरलैंड्स के दक्षिणपंथी सांसद गीर्ट ने एक और ट्वीट में लिखा- भारत में हिंदुओं को सुरक्षित होना चाहिए, यह उनका देश, उनकी मातृभूमि है। भारत उनका है। भारत कोई इस्लामिक देश नहीं है ।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch