Saturday , June 15 2024

अमित बनकर अग्निवीर बनने पहुँचा ताहिर खान, सेना को हुआ शक तो खुली पोल: उत्तराखंड में हो रही थी बहाली, फर्जी नाम से बना रखे थे सारे डॉक्यूमेंट

उत्तराखंड (Uttarakhand) में इन दिनों अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है। भर्ती के लिए बड़ी संख्या में अल्मोड़ा जिले के रानीखेत में युवा पहुँच रहे हैं। इसी बीच खबर है कि कुमाऊँ रेजिमेंट सेंटर (KRC) मुख्यालय के सोमनाथ ग्राउंड से पुलिस ने अमित बनकर अग्निवीर भर्ती में पहुँचे ताहिर खान को गिरफ्तार किया है।

उत्तराखंड के रानीखेत में चल रही अग्निवीर भर्ती परीक्षा में ताहिर पहचान बदलकर आया था। उसके एडमिट कार्ड पर अमित नाम दर्ज था। शक होने पर जब उसके दस्तावेज चेक किए गए तो वे फर्जी निकले। ताहिर को गिरफ्तार कर पुलिस मामले की जाँच कर रही है।

सेना की जाँच में सामने आया है कि ताहिर खान यूपी के बुलंदशहर के सिकंदराबाद के कोकर का रहने वाला है। उसने न केवल हाई स्कूल का फर्जी प्रमाण-पत्र बनवा रखा था, बल्कि नैनीताल जिले के हल्द्वानी शहर के पते पर अपना फर्जी एड्रेस प्रूफ, जाति प्रमाण-पत्र और आधार कार्ड भी बनवाया था। उसने भर्ती के लिए रजिस्ट्रेशन में अपना नाम अमित लिखवाया हुआ था। यही नहीं ताहिर ने तय समय में 1600 मीटर की दौड़ भी पूरी कर ली थी। जब दस्तावेजों का सत्यापन हुआ तो सेना के अधिकारियों आगे ताहिर ने सच कबूल कर लिया। ताहिर के पकड़े जाने के बाद हल्द्वानी प्रशासन की भूमिका संदेह के घेर में आ गई है कि आखिर कैसे आरोपित ने फर्जी एड्रेस प्रूफ, आधार कार्ड बनवाया।

सीओ तिलक राम वर्मा ने बताया कि ताहिर खान के खिलाफ आईपीसी की धारा 467, 468, 471 के तहत मामला दर्ज किया गया है। आरोपित को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है। वहीं, हल्द्वानी के एसडीएम ने बताया कि ताहिर ने रेलवे बाजार के पते पर जाली दस्तावेजों के माध्यम से अपना प्रमाण-पत्र तैयार करवाया था। यहाँ भी उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। अंदेशा जताया जा रहा है कि इसके पीछे एक सिंडिकेट हो सकता है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch