Sunday , June 16 2024

बीवी की पिटाई से खौफ खाए पति ने 100 फीट ऊँचे पेड़ पर बनाया घर: 1 महीने से रहना-खाना सब वहीं, लोगों को मारता है ईंट-पत्थर, औरतों के घर में झाँकता है

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहाँ के राम प्रवेश नामक व्यक्ति को अपनी ही पत्नी से पिटाई का डर सता रहा है। इसी खौफ के कारण वह ताड़ के 100 फीट ऊँचे पेड़ पर जाकर बस गया है। अब उसी पेड़ पर राम प्रवेश का रहना, खाना और सोना होता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यह विचित्र मामला यूपी के मऊ जिले के कोपागंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत बसारथपुर ग्रामसभा का बताया जा रहा है। यहाँ के रहने वाले व्यक्ति राम प्रवेश और उसकी पत्नी के बीच अक्सर मारपीट होती रहती थी। लेकिन एक रोज राम प्रवेश अपनी पत्नी से पिटाई खाने से बचने के लिए पास के ताड़ के पेड़ पर चढ़ गया।

आपको बताते चलें कि ताड़ के जिस पेड़ पर ये व्यक्ति चढ़ा है, उसकी ऊँचाई लगभग 100 फीट बताई जा रही है। जब से राम प्रवेश पेड़ पर चढ़ा है, तब से उसका वहीं रहना, खाना और सोना होता है।

इसके अलावा वो रात के समय पेड़ से उतरकर अन्य क्रियाकलाप करके वापस पेड़ के ऊपर चढ़ जाता है। वहाँ रहने वाले लोगों ने बताया कि जब राम प्रवेश को कोई समझाने या फिर से उतारने की कोशिश करता है तो वह पेड़ पर रखे ईट-पत्थरों से उन लोगों पर हमला कर देता है। राम प्रवेश के पेड़ पर रहने से स्थानीय महिलाओं में भी उसको लेकर आक्रोश है।

राम प्रवेश के पिता ने लगाया अपनी बहु पर आरोप

गौरतलब है कि इस मामले में राम प्रवेश के पिता विष्णुराम ने अपनी ही बहू पर इस घटना का आरोप लगाया है। विष्णुराम ने बताया कि उसकी बहू अक्सर उसके बेटे के साथ मारपीट और लड़ाई झगड़ा करती। इसी लड़ाई-झगड़े से परेशान होकर उसका बेटा पेड़ पर जाकर रहने लगा है। बताया जा रहा है कि लगभग पिछले एक महीने से राम प्रवेश उसी पेड़ पर गुजारा कर रहा है।

वहीं इस मामले में बसारथपुर के ग्राम प्रधान दीपक ने बताया कि राम प्रवेश और उसके परिवार में किसी बात की लड़ाई चल रही है। इसी कारण वह ताड़ के ऊपर चढ़ कर रह रहा है। गाँव वालों ने बताया कि राम प्रवेश के कारण उनकी निजता पर प्रभाव पड़ रहा है। जब इस घटना की जानकारी पुलिस को दी गई तो पुलिस ने पूरे घटनाक्रम की वीडियो बनाकर ले गई है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch