Friday , September 30 2022

वक्फ बोर्ड में घोटाला, 4 दिनों की रिमांड पर भेजे गए AAP विधायक अमानतुल्लाह खान: समर्थन में उतरे CM केजरीवाल, भीड़ ने अधिकारियों से की थी बदतमीजी

नई दिल्ली। ‘दिल्ली वक्फ बोर्ड’ में हुई अनियमितता को लेकर गिरफ्तार किए गए आम आदमी पार्टी (AAP) विधायक अमानतुल्लाह खान (Amanatullah Khan) को दिल्ली की राउज एवन्यू कोर्ट ने 4 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। इससे पहले एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) ने शुक्रवार (16 सितंबर 2022) को अमानतुल्लाह खान के घर समेत उनके सहयोगियों के कई ठिकानों पर छापेमारी की थी। जिसमें, अवैध हथियार समेत 24 लाख रुपए बरामद हुए थे।

शुक्रवार रात अमानतुल्लाह की गिरफ्तारी के बाद शनिवार (17 सितंबर 2022) को उन्हें स्पेशल जज विकास ढुल की कोर्ट में पेश किया गया था। इस सुनवाई में एसीबी ने कहा कि अमानतुल्ला खान ने अपने दोस्तों, रिश्तेदारों और करीबियों को लाभ देते हुए दिल्ली वक्फ बोर्ड में कर्मचारियों के रूप में नियुक्त किया था।

एसीबी ने कोर्ट से यह भी कहा कि आगे की जाँच के लिए अमानतुल्लाह को तेलंगाना, बिहार, उत्तराखंड और गुजरात समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में ले जाना होगा। इस दौरान ही दिल्ली वक्फ बोर्ड में हुई नियुक्ति के लिए पैसे के लेनदेन की जाँच की जाएगी। इसके लिए अमानतुल्लाह को रिमांड पर लेने की आवश्यता होगी।

एसीबी ने अमानतुल्लाह की 14 दिन की पुलिस रिमांड की माँग की थी। हालाँकि, जज ने 4 दिनों की ही पुलिस रिमांड दी है। बताया जा रहा है कि यदि इस रिमांड में पुलिस को अमानतुल्लाह से कुछ खास जानकारी मिलती है तो यह रिमांड बढ़ाई जा सकती है। कुछ वीडियोज भी सामने आए हैं, जिनमें देखा जा सकता है कि अमानतुल्लाह खान को गिरफ्तार करने गई पुलिस और जाँच एजेंसियों के अधिकारियों पर भीड़ हमला कर रही है।

अमानतुल्लाह की गिरफ्तारी के बाद आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) हमेशा की तरह उनका बचाव करते हुए नजर आए। केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, “पहले इन्होंने सत्येंद्र जैन को गिरफ़्तार किया। कोर्ट के बार बार पूछने पर भी ये कोई सबूत पेश नहीं कर पा रहे। फिर मनीष के घर रेड की, कुछ नहीं मिला। अब अमानतुल्लाह को गिरफ़्तार किया है, अभी और भी कई विधायकों को गिरफ़्तार करेंगे। गुजरात में लगता है इन्हें तकलीफ़ बहुत ज़्यादा हो रही है।”

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.