Monday , December 5 2022

रूसी सैनिकों ने 4 से 82 साल तक की महिलाओं संग की यौन हिंसा; कैद में पिटाई, बिजली के झटके देने जैसी यातनाएं

यूक्रेन में रूस की ओर से किए गए अपराधों की जांच को लेकर गठित आयोग ने रूसी सेना पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका कहना है कि यूक्रेन में रूसी सैनिकों ने आम नागरिकों पर भीषण अत्याचार किए। संयुक्त राष्ट्र ने इस साल मार्च में अधिकारों के हनन की जांच के लिए अंतरराष्ट्रीय जांच आयोग बनाया था। जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि रूसी सैनिकों ने आबादी वाले इलाकों पर बमबारी की। साथ ही फांसी, यातना और भीषण यौन हिंसा की घटनाओं को अंजाम दिया। संयुक्त राष्ट्र की तीन स्वतंत्र विशेषज्ञों की टीम ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद को रिपोर्ट सौंपी है।

आयोग ने उन जगहों का दौरा किया, जहां लोगों को गिरफ्तार कर रखा गया था। कब्र और अन्य स्थानों पर जाकर आयोग की टीम ने पूछताछ की। टीम ने 27 कस्बों और बस्तियों के साथ-साथ कब्रों और हिरासत व यातना केंद्रों का दौरा किया। करीब 150 से अधिक पीड़ितों और गवाहों का साक्षात्कार लिया। साथ ही उन्होंने वकील समूहों और सरकारी अधिकारियों से मुलाकात की।

जांच समिति ने क्या पाया…

यौन हिंसा
रूसी सैनिकों ने 4 साल से 82 साल की महिलाओं के साथ यौन हिंसा की। रिश्तेदारों के सामने सैनिकों ने यह अत्याचार किया। यूएन की रिपोर्ट में बताया गया है कि आयोग ने बच्चों का बलात्कार और यातनाओं के मामलों की जानकारी इकट्ठा की है।

यातना
गवाहों ने कैद में पिटाई, बिजली के झटके और जबरन नग्न करने जैसी यातना के बारे में बताया है। कई शवों के गले में लटकाए जाने के निशान, पीठ के पीछे बंधे हाथ, सिर पर गोली मारकर और गला रेतकर हत्या की गई। यूएन की रिपोर्ट में जिक्र है कि नागरिकों व लड़ाकों में बिना पहचान किए हमले किए।

हर शहर में अत्याचार किया…

कीव
रूसी सैनिकों के लौटने के बाद 900 लाशें पाई गईं। पांच नागरिकों की हत्या उस समय की, जब वे पोस्ट ऑफिस की रक्षा कर रहे थे। मेयर ने कहा रूसी सैनिकों ने घरों की खिड़कियों पर गोलियां दागीं।

बुचा
गोली और छर्रे के घाव के साथ सामूहिक कब्र में दफन मिले 67 शव मिले हैं।

चेर्नीहीव
खाने के लिए कतार में खड़े 14 लोगों की गोली मारकर हत्या की गई। हमलों में 25 अन्य की मौत हुई, जिसमें 6 बच्चे शामिल हैं।

ओडेसा
कई आवासीय परिसरों पर हवाई हमले में 11 नागरिक मारे गए।

मारियुपोल
तीन लोग मारे गए। प्रसूति व बच्चों के अस्पताल में बम विस्फोट में 17 घायल हुए।

इजियम
रूसी सैनिकों के इलाके से हटने के बाद से सामूहिक कब्रों में 440 शव मिले।

खार्कीव

रूसी सेना ने भाग रहे नागरिकों को ले जा रहे काफिले पर गोली चलाई, जिसमें एक बुजुर्ग महिला और किशोरी सहित दो लोग मारे गए।

रूस ने इंकार किया
रूस को यूएन काउंसिल की बैठक में आरोपों का जवाब देने के लिए बुलाया गया था, लेकिन रूस की ओर से कोई नहीं पहुंचा। रूस ने इन सभी आरोपों से इनकार किया है।

यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की ने यूएन काउंसिल की बैठक में कहा, ‘यूक्रेन में 445 कब्रों में महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गों और सैनिकों के शव पाए गए हैं। इस युद्ध के लिए रूस को सजा मिलनी चाहिए।’

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.