Sunday , June 16 2024

दीप्ति शर्मा के रनआउट से बौखला गए अंग्रेज, भारत को सिखाने लगे खेल भावना का पाठ!

भारतीय महिला टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे वनडे में शानदार जीत हासिल की. इस जीत के साथ ही हरमनप्रीत कौर की अगुवाई वाली टीम ने मेजबान इंग्लैंड का 3-0 से सफाया कर दिया. वैसे तीसरे मुकाबले में भारतीय टीम की जीत से ज्यादा दीप्ति शर्मा को लेकर बहस हो रही है, जिन्होंने इंग्लिश बल्लेबाज चार्लोट डीन को मांकड़िंग (रन-आउट) किया था.

दीप्ति शर्मा ने जो रन-आउट किया वो आईसीसी के नए नियम के मुताबिक पूरी तरह से सही है. लेकिन जेम्स एंडरसन. स्टुअर्ट ब्रॉड जैसे इंग्लैंड के कई क्रिकेटर्स को यह खेल भावना के खिलाफ लग रहा है. ऑफिशियल ब्रॉडकास्टर स्काई स्पोर्ट्स ने तो इसको विवादित अंत बताया, वहीं मैदान पर मौजूद इंग्लिश फैन्स काफी निराश दिखाई दिए.

ब्रॉड ने ट्वीट किया, ‘दोनों तरफ के अपने नजरिए हैं. मुझे व्यक्तिग तौर पर मैच को इस अंदाज में जीतना पसंद नहीं है. यदि दूसरे लोग कुछ और सोचते हैं तो उसे लेकर भी खुश हूं. ब्रॉड के टीममेट जेम्स एंडरसन ने कहा, ‘मैं कभी नहीं समझ पाया कि खिलाड़ियों को ऐसा करने की क्या जरूरत है. क्या वह मैदान पर चुरा रही है? सैम बिलिंग्स ने ट्वीट किया, ‘डिलीवरी स्ट्राइड में दूसरे एंड को भी नहीं देख रहे है.’

टीम इंडिया के पूर्व ओपनर सहवाग ने इंग्लिश खिलाड़ियों पर जमकर पलटवार करते हुए उन्हें नियमों की याद दिलाई. सहवाग ने दो तस्वीरें पोस्ट कीं. पहली तस्वीर पर लिखा था कि गेम का आविष्कार करो और उसके नियम भूल जाओ. दूसरी में रन-आउट को लेकर आईसीसी के नियम 41.16.1 को लेकर पूरी जानकारी दी गई थी. सहवाग ने पोस्ट के कैप्शन में लिखा, ‘इंग्लैंड के कुछ लोगों को देखकर अच्छा लग रहा है जो बुरी तरह हार गए.’

आईसीसी ने इस साल मांकड़िग को लॉ 41.16 (अनुचित) खेल से रन-आउट नियम (38) में शिफ्ट कर दिया था. मतलब यह है कि अब मांकड़िग करना खेल भावना के विरुद्ध नहीं माना जाता है. एक अक्टूबर से यह नया नियम लागू होने जा रहा है. इसके मुताबिक जब गेंदबाज को लगे कि नॉन-स्ट्राइकर एंड का बल्लेबाज बॉल के डिलीवर होने से पहले ही अपनी क्रीज से बहुत पहले बाहर निकल रहा है तो वह नॉन-स्ट्राइकर छोर पर बल्लेबाज को रन आउट कर सकता है.

हरमनप्रीत ने अपने प्लेयर्स का किया सपोर्ट

कप्तान हरमनप्रीत कौर से भी इसे लेकर सवाल किया गया. हरमनप्रीत ने कहा, ‘ यह खेल का हिस्सा है, मुझे नहीं लगता कि हमने कुछ नया किया है. यह आपकी जागरूकता को दर्शाता है कि बल्लेबाज क्या कर रहा है. मैं अपने खिलाड़ियों का समर्थन करूंगा, उसने नियमों के बाहर कुछ नहीं किया है. दिन के अंत में एक जीत एक जीत है और हम इसे हाथो-हाथ लेंगे.’ आईपीएल 2019 में रविचंद्रन अश्विन ने जोस बटलर को मांकड़िंग किया था, तब भी काफी बवाल हुआ था.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch