Monday , June 17 2024

‘विराट कोहली पर भी सवाल खड़े किये जाते हैं…’ : आलोचनाओं पर भड़के गेंदबाज की सख्त प्रतिक्रिया

टी20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के स्पिन आक्रमण की अगुवाई अनुभवी लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल करेंगे. पिछले साल संयुक्त अरब अमीरात में हुए टी20 विश्व से शुरुआती दौर में बाहर होने के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है. चहल के साथ रविचंद्रन अश्विन आगामी टी20 टूर्नामेंट में स्पिनरों को मजबूती प्रदान करते हैं. टीम इंडिया के स्पिन अटैक में अक्षर पटेल भी शामिल हैं, जिन्हें घायल रवींद्र जडेजा की जगह शामिल किया गया है. दीपक हुड्डा को भी टीम में स्थान दिया गया है, जो एक अतिरिक्त स्पिनर के रूप में ऑफ स्पिन के कुछ ओवरों के साथ मैच में अहम किरदार निभा सकते हैं. दूसरी ओर, पिछले टी20 विश्व कप में रहे राहुल चाहर और वरुण चक्रवर्ती पूरी तस्वीर में कहीं दिखाई नहीं दे रहे हैं.

कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के साथ अपने दो शानदार स्पेल के बाद चक्रवर्ती को टूर्नामेंट के लिए चुना गया था, जहां उन्होंने अपनी गेंदबाजी से कुछ बेहतरीन बल्लेबाजों को प्रभावित करते हुए कुल 35 विकेट लिए. फिर उन्हें 2022 सीज़न से पहले दो बार के आईपीएल चैंपियन द्वारा 8 करोड़ रुपए में रिटेन किया गया. हालांकि, इस बार उनका जादू नहीं चला. स्पिन गेंदबाज ने 11 मैचों में 8.51 की इकॉनमी से सिर्फ छह विकेट लिए. उन्हें अंतिम ग्यारह से भी हटा दिया गया था क्योंकि नाइट राइडर्स ने टीम में बदलाव का फैसला किया था.

चक्रवर्ती ने पिछले साल टी20 विश्व कप में अपने प्रदर्शन को लेकर आलोचनाओं का सामना करने के बारे में खुलकर बात की. विराट कोहली का उदाहरण देते हुए बताया कि कैसे सबसे बड़े खिलाड़ी भी जब अपनी फॉर्म में नहीं होते, तो वे भी सवालों के घेरे में आ जाते हैं. कोहली ने इस महीने की शुरुआत में 1,020 दिनों के अंतराल के बाद अपना 71वां अंतरराष्ट्रीय शतक बनाया. स्टार बल्लेबाज ने हाल ही में एशिया कप में लगातार दो अर्धशतक बनाकर अपने फॉर्म में आने की कहानी बयां की. उन्होंने एशिया कप के एक मैच में अफगानिस्तान के खिलाफ 61 गेंदों में नाबाद 122 रन बनाकर अपना पहला टी20 अंतरराष्ट्रीय शतक लगाया.

चक्रवर्ती ने स्पोर्ट्सकीड़ा को बताया, ‘ठीक है. सभी से पूछताछ की जाती है. यहां तक कि विराट कोहली पर भी सवाल खड़े किए जाते हैं. अगर कोई उम्मीदों पर खरा नहीं उतरता है, तो वह सवालों के घेरे में आ जाएगा और यही खेल की प्रकृति है. मैं उस पर सवाल नहीं उठा सकता. मेरा काम खुद को दिन-ब-दिन बेहतर करना है. ऐसा कुछ भी नहीं है जो मैं अलग तरीके से कर सकता था.’

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch