Wednesday , December 7 2022

‘अल्लाह के सिवा कोई नहीं, वही एक मसीहा’: FIFA वर्ल्ड कप में पहुँचे ज़ाकिर नाइक ने शुरू कर दिया धर्मांतरण? जानें क्या है वायरल वीडियो का सच

ज़ाकिर नाइक कतर फीफाभारत में मनी लॉन्ड्रिंग, आतंकवाद को बढ़ावा देने, अवैध धर्मांतरण सहित कई मामलों का वांछित भगोड़ा जाकिर नाइक FIFA वर्ल्ड कप के बीच कतर पहुँचा है। इसी बीच सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि पिछले सप्ताह कतर में एक कार्यक्रम के दौरान जाकिर नाइक ने अन्य धर्मों से संबंधित चार लोगों को इस्लाम मजहब में कन्वर्ट करवाया है। इस दावे के साथ वीडियो भी शेयर किए जा रहे हैं। वीडियो में इस्लामी तकरीर करने वाला ज़ाकिर नाइक चार अन्य लोगों के साथ मंच पर खड़ा दिखाई दे रहा है।

इनमें से एक मंच पर नाइक की बात दोहरा रहा है। इसमें वो कहता दिख रहा है कि अल्लाह के अलावा कोई ईश्वर नहीं है और पैगंबर मुहम्मद उनके मसीहा हैं। भारत में भगोड़ा घोषित किए गए जाकिर नाइक को फीफा विश्व कप 2022 से पहले कतर में इस्लाम का प्रचार करने वाले भाषण देने के लिए आमंत्रित किया गया था। हालाँकि, ये वीडियो पुराना है, जो अब वायरल हो रहा। उक्त वीडियो 27 मई, 2016 को शेयर किया गया था।

हालाँकि, वीडियो पुराना होने से ये फैक्ट नहीं बदल जाता कि FIFA वर्ल्ड कप के बीच ज़ाकिर नाइक क़तर पहुँचा हुआ है और धर्मांतरण कराने के लिए वो जाना जाता रहा है। अपनी तकरीरों के माध्यम से ब्रेनवॉश करने में वो एक्सपर्ट है और कई आतंकियों के गैजेट्स में उसके वीडियोज मिलते हैं।

फीफा वर्ल्ड कप का मैच देखने के लिए अलग-अलग देशों से कतर पहुँच रहे प्रशंसकों पर कई प्रतिबंध लगाए गए हैं। ऐसे में उन प्रतिबंधों को लेकर लगातार विवाद हो रहा है। विश्व कप के मैचों के आयोजन के दौरान स्टेडियम में शराब की बिक्री को जो अनुमति मिली थी, उस पर भी प्रतिबंध लग सकता है। बीयर कंपनी बडवाइजर के बीच करोड़ों डॉलर के कॉन्ट्रैक्ट पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। शराब बनाने वाली दिग्गज कंपनी Anheuser-Busch InBev ने कहा कि परिस्थितियाँ हमारे नियंत्रण से परे है। इस कारण कुछ बिक्री आगे नहीं बढ़ सकती है।

दरअसल, फीफा वर्ल्ड कप के लिए कतर की सरकार ने शराब के लिए कुछ नियम तय किए हैं। इसमें फैंस मैच शुरू होने से तीन घंटे पहले और खत्म होने के एक घंटे बाद ही बीयर खरीद सकेंगे। कतर में महिला और पुरुष दोनों के कपड़ों को लेकर कुछ पाबंदियाँ लागू की गई हैं। यहाँ महिलाएँ ऐसे कपड़े नहीं पहन सकती हैं, जो बॉडी को एक्सपोज करते हो। ऐसे में उन्हें जेल भेजने तक का नियम है। इसके अलावा अब मैच के दौरान इस्लाम का प्रचार करने को लेकर विवाद हो रहा है।

एक रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि कतर इतने बड़े आयोजन का इस्तेमाल इस्लाम के प्रचार-प्रसार के लिए भी करना चाहता है। इस काम के लिए कट्टरपंथी जाकिर नाइक को चुना गया है। भले ही ये वीडियो पुराना हो, लेकिन उसके क़तर पहुँचने का उद्देश्य तो यही है।

गौरतलब है कि कि जाकिर नाइक अपने महजबी तकरीरों के जरिए समाज में ना सिर्फ नफरत फैलाता है, बल्कि मुस्लिम युवाओं को जिहाद और आतंकवाद के लिए भी उकसाता है। हाल ही में कई गिरफ्तार आतंकियों ने बताया था कि वे जाकिर नाइक का वीडियो देखकर आतंकवाद की ओर बढ़े थे। जाकिर नाइक पर भारत में मनी लॉन्ड्रिंग, आतंकवाद को बढ़ावा देने, धर्मांतरण से जुड़ाव, समाज में नफरत फैलाने, हेट स्पीच सहित कई गतिविधियों में लिप्त होने के कारण उस पर मामला दर्ज किया गया है।

वह भारत का भगोड़ा और वांछित है। भारत सरकार उसे देश में लाने का लगातार प्रयास कर रही है। साल 2016 के अंत में भारत ने नाइक के इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन पर प्रतिबंध लगा दिया था। सरकार की कार्रवाई की भनक लगते ही जाकिर नाइक भागकर मलेशिया चला गया। उसके बाद साल 2017 में जाकिर नाइक को भगोड़े घोषित कर दिया गया।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.