Sunday , April 21 2024

Pathaan से बड़े सक्सेस की उम्मीद लगाने वालों को Kangana Ranaut का पैगाम- गूंजना तो यहां सिर्फ जय श्री राम है

फिल्म पठान ने बॉक्स ऑफिस पर तबाही मचा रखी है. बंपर ओपनिंग के बाद पठान ने दूसरे दिन भी छप्परफाड़ कलेक्शन किया. कंगना रनौत ने भी पठान की तारीफ की थी. लेकिन अब पठान की बॉक्स ऑफिस सक्सेस पर कंगना रनौत का ट्वीट सामने आया है. जहां कंगना ने साफ लिखा कि अंत में गूंजना तो यहां सिर्फ जय श्री राम ही है.

कंगना रनौत ने ट्वीट कर लिखा- जो लोग पठान को नफरत पर जीत का दावा बता रहे हैं, मैं इससे सहमत हूं लेकिन किसके प्यार के ऊपर किसकी नफरत? कौन टिकटें खरीद रहा है और कौन इसे सक्सेसफुल बना रहा है? हां, ये भारत का प्यार है, जहां 80 प्रतिशत हिंदू रहते हैं और फिर भी एक फिल्म जिसका नाम पठान है, उसमें हमारे दुश्मन देश पाकिस्तान और ISI को अच्छा दिखाया गया है, वो फिल्म सक्सेसफुली चल रही है. ये भारत की स्प्रिट है. बिना किसी नफरत और जजमेंट से परे, जो देश को महान बनाती है. ये भारत का प्यार है जिसने नफरत और दुश्मनों की ओछी राजनीति पर जीत पाई है.

कंगना रनौत के ट्वीट

कंगना ने क्यों कहा- गूंजेगा तो श्रीराम ही

कंगना रनौत आगे लिखती हैं- लेकिन उन सभी लोगों के लिए जिनकी उम्मीदें हाई हैं… पठान सिर्फ एक फिल्म हो सकती है… गूंजेगा तो यहां सिर्फ जय श्री राम… जय श्री राम. एक्ट्रेस ने अपने ट्वीट में पठान के लिए सही टाइटल नेम भी सुझाया. उनके मुताबिक फिल्म का नाम इंडियन पठान होना चाहिए था. कंगना ने लिखा- मुझे यकीन है भारत के मुस्लिम देशभक्त हैं और अफगानी पठानों से अलग हैं. भारत कभी अफगानिस्तान नहीं हो सकता. हम सभी को पता है अफगानिस्तान में क्या हो रहा है, ये नर्क से भी परे है. इसलिए फिल्म पठान के लिए उसकी स्टोरीलाइन के मुताबिक सही नाम इंडियन पठान होता.

कंगना रनौत के ट्वीट

बॉक्स ऑफिस पर गूंजा पठान

फिल्म पठान के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन की बात करें तो इसकी नॉनस्टॉप कमाई जारी है. फिल्म हाईएस्ट इंडियन ओपनर फिल्म बन गई है. पठान ने केजीएफ 2 के रिकॉर्ड को पछाड़ा है. पठान ने दूसरे दिन ओपनिंग डे से ज्यादा कमाई की. पहले दिन हिंदी वर्जन ने 55 करोड़ कमाए और दूसरे दिन 70 करोड़. पठान ने 2 दिन में 120 करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया है. किंग खान और उनके फैंस के लिए पठान का सुपरहिट होना ट्रीट से कम नहीं.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch