Sunday , June 16 2024

‘अतीक अहमद की तरह कोई सिर पर गोली न मार दे’, आजम खान को क्यों सता रहा डर

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान ने नगर निकाय चुनाव के लिए रामपुर में प्रचार करते हुए सनसनीखेज बयान दिया। कहा कि उन्हें गैंगस्टर से नेता बने अतीक अहमद की तरह गोली मारे जाने का डर है। आजम ने बयान में कहा, क्या चाहते हो मुझसे और मेरे बच्चों से? कुछ भी हो, आपको बस खुद को प्रोत्साहित करना है। जहां भी आपको रोका जाए, वहां बैठें और पीछे हटने के बजाय आगे बढ़ने की कोशिश करें।”

अतीक की तरह गोली न मार दे कोई

गैंगस्टर से राजनेता बने अतीक अहमद की तरह गोली मारे जाने के डर से समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान ने नगर निकाय चुनाव के लिए रामपुर में प्रचार करते हुए लोगों से पूछा कि क्या वे चाहते हैं कि उनकी और उनके परिवार की भी इसी तरह हत्या कर दी जाए। क्या चाहते हो मुझसे और मेरे बच्चों से? कुछ भी हो, आपको बस खुद को प्रोत्साहित करना है। जहां भी आपको रोका जाए, वहां बैठें और पीछे हटने के बजाय आगे बढ़ने की कोशिश करें।”

सपा के लिए चुनावी प्रचार में जुटे आजम

आजम खान ने रामपुर नगरपालिका के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ रही समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार फातिमा जबी के लिए प्रचार किया। आजम खान, जो अपने व्यंग्यात्मक बयानों के लिए जाने जाते हैं, ने यूपी और केंद्र दोनों में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार पर हमला किया और अपने विरोधियों को “राजनीतिक हिजड़ा” कहा।

पूरा देशे ठेके पर

आजम ने कहा, “जो लोग आज कह रहे हैं कि नगर पालिका ठेके पर है, उन्होंने पूरे देश को ठेके पर रखा था, लाल किला बिक चुका है, हवाई अड्डे बिक चुके हैं, बंदरगाह बिक चुके हैं, रेलवे बिक चुकी है, क्या बचा है?  यह हुकूमत-ए-हिंद के पास है, इसे रहना चाहिए। हमारी सेना और सरकार की सेना दो अलग-अलग चीजें हैं। हमारी सेना आपकी है और हमने इस सेना को हर कोने पर लड़ते देखा है और जीत लिया है।”

पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए आजम खान कहते हैं, “भारत के वज़ीर-ए-आज़म’ (प्रधान मंत्री) ने 150 करोड़ लोगों के हिंदुस्तान में आपकी रामपुर विधानसभा सीट का उल्लेख किया है, यह आपकी औकात है। आपसे इतना डर ​​है, और यह डर किसी जाति का नहीं है, न मेरे मंत्री होने का, न मेरे सांसद या विधायक होने का, बल्कि डर है हमारी एकता का, उस भरोसे का जो हम साझा करते हैं। मेरी विधायिका को दो बार समाप्त कर दिया गया, मेरा और अब्दुल्ला (उनके बेटे) के वोट देने के अधिकार को समाप्त कर दिया गया।”

गौरतलब है कि आजम खान रामपुर सदर निर्वाचन क्षेत्र से विधायक चुने गए थे। राज्य विधानसभा सचिवालय ने पहले अक्टूबर में, एक अदालत द्वारा नफरत फैलाने वाले भाषण मामले में तीन साल की जेल की सजा सुनाए जाने के बाद खान की सदन से अयोग्यता की घोषणा की। खान के खिलाफ अप्रैल 2019 में एक चुनावी सभा के दौरान रामपुर में तैनात प्रशासनिक अधिकारियों, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर गंभीर आरोप लगाने के आरोप में मामला दर्ज किया गया था।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch