Tuesday , April 16 2024

अमेरिका में राहुल गांधी के कार्यक्रम में लहराए गए खालिस्तानी झंडे, जमकर नारेबाजी

राहुल गांधी के कार्यक्रम में लहराए गए खालिस्तानी झंडे कैलिफोर्निया।  कांग्रेस नेता राहुल गांधी अमेरिका के दौरे पर हैं. उन्होंने बुधवार को कैलिफोर्निया में भारतीयों से मुलाकात कर उनसे बातचीत की. इस दौरान कुछ लोगों ने खालिस्तानी झंडे भी लहराए. इस दौरान खालिस्तान की मांग को लेकर नारेबाजी भी की गई.

एक हफ्ते के अमेरिका दौरे पर राहुल गांधी

राहुल गांधी मंगलवार को अमेरिका पहुंचे. यहां उन्होंने सैन फ्रांसिस्को में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया.राहुल यहां स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में छात्रों के साथ बातचीत भी करेंगे. राहुल गांधी एक प्रेस कांफ्रेंस को भी संबोधित करेंगे और इसके बाद वाशिंगटन डीसी में सांसदों और थिंक टैंकों के साथ बैठकें करेंगे.

अमेरिका के अपने सप्ताह भर के दौरे के दौरान 52 वर्षीय कांग्रेस नेता के भारतीय अमेरिकियों को संबोधित करने और वॉल स्ट्रीट के अधिकारियों व यूनिवर्सिटी के छात्रों के साथ बातचीत करने की भी संभावना है. उनकी ये यात्रा 4 जून को न्यूयॉर्क में एक सार्वजनिक सभा के साथ खत्म होगी. ये कार्यक्रम न्यूयॉर्क के जेविट्स सेंटर में होगा.

राहुल ने सैन फ्रांसिस्को में भारतीय समुदाय को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी और बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा. राहुल ने कहा, मुझे लगता है कि नया संसद भवन का उद्घाटन असली मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए है. बेरोजगारी, महंगाई, नफरत, शिक्षा संस्थानों में कमी जैसे मुद्दों पर बीजेपी चर्चा नहीं चाहती है. इसलिए इन सब मुद्दों को आगे किया जा रहा है.

राहुल ने आरोप लगाया कि उन्होंने (बीजेपी) ने पूरी कोशिश की कि हमारी भारत जोड़ो यात्रा को रोका जा सके. उन्होंने पुलिस और एजेंसियों का इस्तेमाल किया. लेकिन वे अपनी हर कोशिश में असफल हुए. आप सबने हमारी मदद की, इसलिए कुछ भी हमारे खिलाफ काम नहीं किया.

इतना ही नहीं राहुल ने पीएम मोदी पर भी निशाना साधा. राहुल ने कहा, मुझे लगता हैं कि पीएम मोदी से कहा जाए कि वे भगवान के सामने बैठ जाएं, तो वे भगवान को समझाने लगेंगे कि ब्रह्मांड में क्या चल रहा है. भगवान भी भ्रमित हो जाएंगे कि उन्होंने क्या बनाया है. भारत में यही चल रहा है. भारत में कुछ लोग ऐसे हैं, जो सबकुछ जानते हैं. जब वे वैज्ञानिक के पास जाते हैं, तो उन्हें विज्ञान के बारे में बताते हैं, जब वे इतिहासकार के पास जाते हैं, तो उन्हें इतिहास के बारे में बताते हैं. आर्मी को युद्ध के बारे में, एयरफोर्स को उड़ने के बारे में सबको सबकुछ बताते हैं.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch