Tuesday , April 16 2024

वो दोस्ती का वास्ता देकर गिड़गिड़ाती रही, साहिल करता रहा वार: साक्षी ही नहीं कुल 5 लोगों की हत्या का था प्लान, सुबह से गाँजा-शराब ले रहा था हत्यारा

नई दिल्ली। दिल्ली के रोहिणी स्थित शाहबाद डेयरी के पास साक्षी नाम की 16 वर्षीय लड़की की हत्या की खबरें सुर्ख़ियों में है। साहिल ने कैसे न सिर्फ उसे कई बार चाकुओं से गोदा जिससे उसकी आँतें बाहर निकल आईं, बल्कि उसने एक बड़ा पत्थर उठा कर उसका सिर भी कुचल डाला। घटना के CCTV वीडियोज भी सामने आए हैं। ये अचानक हुई हत्या नहीं है, बल्कि साहिल पिछले 3-4 दिन से इसकी साजिश रच रहा था। सिर्फ साक्षी ही नहीं, बल्कि उसने 5 लोगों की हत्या का प्लान बना रखा था।

साक्षी के साथ-साथ उसके पुरुष दोस्तों को भी खत्म करने की साजिश थी। रविवार (28 मई, 2023) को उसे रास्ते में जो भी इन पाँचों में से मिलता उसकी वो हत्या कर देता। साक्षी और उसके दोस्त इन्हीं रास्तों से आते-जाते हैं, ये भी उसने रेकी कर रखा था। वो उस दिन सुबह से चाकू लेकर घूम रहा था। सुबह 11 बजे उसने गाँजा और शराब का भी सेवन किया था। वो बीच-बीच में नशीले पदार्थ ले रहा था। हत्या के समय भी वो नशे में धुत था।

पूछताछ में साहिल ने बताया कि साक्षी दोस्ती का वास्ता देकर उस पर हमला न करने को कह रही थी, लेकिन वो लगातार वार करता रहा। हत्या में इस्तेमाल किया गया चाकू उसने हरिद्वार से खरीदा था। CCTV फुटेज में वो एक युवक से बात करते हुए भी दिखा था, जिससे पूछताछ होगी। हालाँकि, चूँकि साहिल पहले उसी इलाके में रहता था इसीलिए लोगों से उसकी जान-पहचान थी। रिठाला जाते समय उसने गुप्ता कॉलोनी में हत्या में इस्तेमाल किया गया चाकू फेंका।

रात भर साहिल सड़क पर सोया रहा, जिसके बाद वो बुलंदशहर स्थित अटरेनी गाँव पहुँचा, जहाँ उसकी बुआ रहती है। साहिल के मनोवैज्ञानिक परीक्षण की भी तैयारी है। उसके सोशल मीडिया हैंडल्स को पुलिस खँगाल रही है। साहिल ने साक्षी की एक झबरू (असली नाम अजय) नामक लड़के से नजदीकी की बात कही है, जिस पर अजय ने कहा कि वो खुद मरेगा ही और अब फँसाने के लिए उसका नाम ले रहा। बकौल अजय, उसने सिर्फ साहिल को समझाया था कि लड़की को प्रताड़ित मत करो।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch