Sunday , February 25 2024

IPL में गढ़ा गया ऑस्ट्रेलिया को हराने का मास्टर प्लान, अक्षर पटेल ने किया खुलासा

आईपीएल 2023 के तुरंत बाद वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के खिताबी मुकाबले में भारत और ऑस्ट्रेलिया को भिड़ना है। टी-20 के हेक्टिक शेड्यूल के बाद टेस्ट खेलना थोड़ा मुश्किल होगा, लेकिन इतने बड़े टूर्नामेंट को जीतने के लिए भारतीय टीम के खिलाड़ियों ने खास प्लान बना रखा था। इसे आईपीएल के दौरान ही अंजाम दिया गया। इस बारे में भारतीय ऑलराउंडर अक्षर पटेल ने बताया कि इंडियन प्रीमियर लीग के दौरान लाल गेंद से अभ्यास करने से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल में सामंजस्य बैठाने में मदद मिलेगी।

बाएं हाथ के इस स्पिनर ने हालांकि कहा कि गेंद की परवाह किए बगैर महत्वपूर्ण यह है कि सही लाइन और लेंथ से गेंदबाजी पर ध्यान दिया जाए। अक्षर ने कहा, ‘हम सफेद गेंद से लाल गेंद में बदलाव कर रहे हैं। यह एसजी से ड्यूक गेंद में बदलाव करने के समान ही है। आपको अपनी प्रतिभा और कौशल का उपयोग करना होगा। आपको अपनी योजना को लागू करना होता है और गेंदबाजी लय हासिल करनी होती है। गेंद चाहे कोई भी हो, अगर आप सही लाइन और लेंथ के साथ गेंदबाजी करते हैं तो यह काम करता है।’

उन्होंने कहा, ‘हम यही कर रहे हैं। मैच इंग्लैंड में है, जहां के हालात भारत से अलग हैं, तो हम योजना बना रहे हैं कि यहां कौन सी लाइन और लेंथ काम करेगी।’ भारतीय खिलाड़ियों का पहला दल पिछले हफ्ते की शुरुआत में लंदन पहुंचा था जिसमें विराट कोहली और अक्षर जैसे खिलाड़ी शामिल थे। टीम फाइनल की तैयारी कर रही जो सात से 11 जून तक द ओवल में होगा। अक्षर ने कहा, ‘जो लोग (आईपीएल प्ले ऑफ के लिए) क्वॉलिफाइ नहीं कर पाए उन्हें अधिक समय मिला। इसलिए मुझे नहीं लगता कि कोई समस्या होगी क्योंकि हमारे पास तैयारी के लिए पर्याप्त समय है।’

उन्होंने कहा, ‘अंतर यह है कि ड्यूक गेंद अधिक समय तक चमकदार रहती है लेकिन आईपीएल के दौरान हमने गेंद मंगवाई थी इसलिए हम इसके साथ अभ्यास कर रहे थे और इसके आदी हो गए थे।’ भारतीय टीम को तेज गर्मी में आईपीएल खेलने के बाद इंग्लैंड की अपेक्षाकृत ठंडी परिस्थितियों से जल्दी से सामंजस्य बैठाना होगा। अक्षर ने कहा, ‘हम आईपीएल खेलकर आए थे जहां भारत में तापमान 40-45 डिग्री था। उसके बाद यहां बहुत अच्छा लग रहा है। हमने अपने सर्दियों के कपड़े निकाल लिए हैं और जंपर्स पहनकर घूम रहे हैं। थोड़ी हवा भी चल रही है। हम जब भी ब्रिटेन आते हैं तो हम मौसम का आनंद लेते हैं। यहां थोड़ा ठंडा रहता है, गर्मी नहीं होती है।’

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch