Sunday , February 25 2024

‘खोलूँ पैंट, लेगी क्या’: महिला से आरिफ ने की बदसलूकी, पकड़ाते ही पैंट में मूत दिया; पहले कह रहा था- पुलिस मेरा कुछ नहीं कर सकती

ऑटो ड्राइवर आरिफगुजरात के एक ऑटो ड्राइवर का वीडियो वायरल है। एक वीडियो में वह एक महिला ऑटो ड्राइवर के साथ सड़क पर बदतमीजी करता दिख रहा है। दूसरे में वह एक महिला पत्रकार के ‘गिरफ्तारी के बाद पैंट में मूत दिया’ सवाल के जवाब में सहमति जताता दिख रहा है।

ऑटो ड्राइवर की पहचान आरिफ अबुसाद सैयद के तौर पर हुई है। वीडियो गुजरात के वापी का है। बुधवार (31 मई 2023) को मामूली कहासुनी के बाद आफिर ने महिला ऑटो ड्राइवर से अभद्रता की थी। महिला ने उसकी हरकत का वीडियो बना लिया जो सोशल मीडिया पर वायरल है। वीडियो वायरल होने के बाद हरकत में आई पुलिस ने आरिफ को दबोच लिया। पुलिस के हत्थे चढ़ने के बाद उसका दूसरा वीडियो भी वायरल हो गया।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार वापी के गीतानगर स्थित रेलवे स्टेशन के पास आरिफ और महिला ऑटो ड्राइवर के बीच सवारी बैठाने को लेकर कहासुनी हो गई। इसके बाद आरिफ अश्लीलता पर उतर आया। महिला ने उसकी हरकत का वीडियो बनाना शुरू कर दिया। यह देखकर आरिफ अपने पैंट की जिप खोलने लगा। महिला से कहने लगा- खोलूँ क्या, इसका लेगी क्या… उसने पुलिस वालों पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी की। कहा कि पुलिस उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकती।

आरिफ का वीडियो वायरल होने के बाद स्थानीय पुलिस हरकत में आई। आरिफ को थाने ले जाया गया। इस दौरान स्थानीय मीडियाकर्मी भी मौके पर पहुँच गए। आरिफ की गिरफ्तारी के बाद पुलिस उसे लेकर दोबारा घटनास्थल पर पहुँची। सरेआम कान पकड़कर उससे उठक-बैठक करवाया गया और माफी मँगवाई गई। लोग इस दौरान आरिफ का वीडियो बनाते रहे जो अब वायरल हो रहा है।

आरिफ की गिरफ्तारी के बाद वायरल एक वीडियो में महिला पत्रकार आरिफ से सवाल पूछती नजर आ रही है। महिला पत्रकार उससे पुलिस के एक्शन मोड के बारे में पूछती है। आरिफ कुछ जवाब नहीं देता। वह आगे पूछती है, “आप कह रहे थे कि पुलिस आपका कुछ नहीं बिगाड़ सकती? हमने सुना है कि आपने अपनी पैंट 4 बार गीली की है।” आरिफ बस सिर हिला देता है और दोबारा ऐसी गलती न करने की बात स्वीकारता है। महिला ऑटो ड्राइवर की शिकायत के बाद पुलिस ने आरिफ के खिलाफ कई धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है। आगे की कार्रवाई की जा रही है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch