Friday , April 19 2024

बृजभूषण सिंह के खिलाफ नाबालिग ने कोर्ट में वापस ली शिकायत, सूत्रों के हवाले से खबर: पिता का इनकार, अमित शाह से मिले बजरंग-विनेश-साक्षी

बृजभूषण शरण सिंह, पहलवाननई दिल्ली। भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Sharan Singh) के खिलाफ की गई शिकायत नाबालिग महिला पहलवान द्वारा वापस लिए जाने का दावा किया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के ह​वाले से पटियाला कोर्ट में शिकायत वापस लेने की बात कही गई है। यह भी खबर आई है कि बजरंग पुनिया, साक्षी मलिक और विनेश फोगाट ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की है।

शाह से पहलवानों की मुलाकात 3 जून 2023 की रात करीब 11 बजे हुई। यह बैठक करीब दो घंटे चली। बजरंग पुनिया ने गृह मंत्री के साथ बैठक की पुष्टि की है। एक अनाम महिला पहलवान की माँ के हवाले से कहा है कि शाह ने बिना भेदभाव के पूरी जाँच का भरोसा दिया है। कहा है कि पुलिस जाँच कर रही है। कानून अपना काम करेगा।

यह बैठक ऐसे समय में हुई है जब जंतर-मंतर से हटाए जाने के बाद पहलवान अपने मेडल बहाने हरिद्वार चले गए थे। हालाँकि उन्होंने 5 दिन का अल्टीमेटम देते हुए गंगा में मेडल नहीं बहाए थे। इसके बाद राकेश टिकैत ने 9 जून तक का अल्टीमेटम दिया था।

पहलवानों की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने बृजभूषण सिंह के खिलाफ दो एफआईआर दर्ज कर रखी है। इनमें यौन उत्पीड़न के 15 मामलों का जिक्र है। इनमें से 10 में गलत तरीके से छूने की शिकायत की गई है। शिकायत में बिना सहमति के गलत तरीके से छूना, स्तनों और पेट पर हाथ फेरना, पीठ पर हाथ रखना, डराना-धमकाना और पीछा करना शामिल है। एक एफआईआर नाबालिग पहलवान की शिकायत पर दर्ज है। इसमें POCSO अधिनियम की धारा 10 जोड़ी गई है।

लेकिन लाइव हिंदुस्तान ने इस नाबालिग पहलवान के पिता के हवाले से शिकायत लेने के दावों को बेबुनियाद बताया है। नाबालिग के पिता ने कहा कि पहलवानों को लेकर फेक न्यूज चलाई जा रही। इससे पहले मेरी बेटी की उम्र को लेकर भी गलत खबर चलाई गई थी। उन्होंने कहा, “वह नाबालिग है और मैं अपनी शिकायत क्यों वापस लूँ।”

गौरतलब है कि खुद को इस पहलवान के चाचा बताने वाले एक शख्स ने दावा किया था कि उनकी भतीजी बालिग है। साक्षी मलिक, विनेश फोगाट और बजरंग पूनिया जैसे पहलवान उसका इस्तेमाल कर उनके परिवार को गुमराह कर रहे हैं। लेकिन बाद में इस लड़की के पिता ने मीडिया को बताया था कि जब उनकी बेटी का एक कैंप के दौरान यौन शोषण हुआ वह नाबालिग थी। इसी तरह न्यूज एजेंसी एनआई सूत्रों के हवाले से बता चुकी है कि बृजभूषण सिंह के खिलाफ जो आरोप लगाए हैं, उसको लेकर दिल्ली पुलिस को अब तक साक्ष्य नहीं मिले हैं।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch